January 24, 2022

Happy Birthday Irrfan Khan : संघर्ष के वक्त मे करते थे AC repairing का काम, Sutapa से शादी के लिए हिन्दू धर्म अपनाने को थे तैयार

happy birthday irfan khanhappy birthday irfan khan

Happy Birthday Irrfan khan : 2020 में महान अभिनेता इरफान खान के असामयिक निधन ने हम सभी की आंखों में आंसू ला दिए। उन्होंने अपनी पहली फिल्म के बाद से न केवल अभिनय को फिर से परिभाषित किया है, बल्कि बड़े पर्दे पर अपने पात्रों के माध्यम से अपने समर्पण और वास्तविकता को देखकर हमेशा अपने प्रशंसकों को चकित करने में कामयाब रहे हैं। बहुमुखी अभिनेता ने हिंदी सिनेमा के साथ-साथ ब्रिटिश और अमेरिकी फिल्मों में भी काम किया था। इरफान खान ने 1988 मे फिल्म ‘सलाम बॉम्बे’ से डेब्यू किया था।

AC repairing का करते थे काम

खान का जन्म 7 जनवरी 1967 को राजस्थान में पठानी वंश के एक मुस्लिम परिवार में हुआ था। खान की मां, सईदा बेगम खान टोंक से थीं, और उनके पिता, यासीन अली खान, राजस्थान के टोंक जिले के खजुरिया गांव से थे, और वे एक टायर व्यवसाय चलाते थे। जब इरफान ने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा ज्वाइन किया तभी उनके पिता की मृत्यु हो गई थी जिसके बाद उन्हें घर चलाने के लिए AC रिपेयरिंग का काम भी करना पड़ा था।

मुंबई में अपने शुरुआती दिनों में, उन्होंने एक एयर कंडीशनर की मरम्मत करने वाले के रूप में नौकरी की और 1984 में अपने अभिनय प्रेरणा राजेश खन्ना के घर गए। बाद में एक इंटरव्यू में इरफान ने कहा, “राजेश खन्ना ने जिस तरह का क्रेज देखा, उसकी नकल किसी ने नहीं की है।

सिनेमा और टेलीविजन जगत के थे हीरो

1987 में एनएसडी से स्नातक होने के तुरंत बाद, खान ने मीरा नायर की सलाम बॉम्बे के साथ अपनी शुरुआत की! जहां उन्हें एक छोटी भूमिका की पेशकश की गई थी। हालांकि, फाइनल कट में उनके सीन कम कर दिए गए थे, जिसके बाद वो पुरी रात रोते रहे थे ।उसके बाद उन्होंने ना सिर्फ कई फिल्में, बल्कि टेलीविजन जगत से लेकर, तेलुगु और hollywood फ़िल्मों मे भी काम किया ।

सुतापा से शादी के लिए हिन्दू धर्म अपनाने को भी थे तैयार

23 फरवरी 1995 को, खान ने लेखक और साथी NSD स्नातक सुतापा सिकदर से शादी की। उनके दो बेटे बाबिल और अयान हैं। सुतापा इरफान के संघर्षो भरे वक्त से उनके साथ हमेशा खड़ी रही । कहा जाता है कि सुतापा से शादी करने के लिए वह अपना धर्म भी बदल कर हिंदू करने के लिए तैयार थे,लेकिन सुतापा के परिवार वाले शादी के लिए मान गए ।

कैंसर से थे पीड़ित

मार्च 2018 में, खान ने ट्विटर के माध्यम से खुलासा किया कि उन्हें न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर का पता चला था। उन्होंने यूके में एक साल के लिए इलाज की मांग की और फरवरी 2019 में भारत लौट आए।उन्हें 28 अप्रैल 2020 को मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहाँ उन्हें पेट के संक्रमण का इलाज मिलना शुरू हुआ। संक्रमण से अगले दिन उनकी मृत्यु हो गई।

उन्होंने प्रदर्शन देकर अपने लिए एक जगह बनाई, जो न केवल ताजी हवा की सांस थी, बल्कि जिस तरह की भूमिकाएं उन्होंने हमेशा अपने अभिनय को साबित करने में कामयाब रहीं। 30 साल से अधिक के अपने करियर में, इरफान खान ने कई प्रशंसा अर्जित की। उनकी आखिरी फिल्म हिंदी मीडियम ने न केवल उनके वन-लाइनर्स पर प्रशंसकों को हंसाया, बल्कि प्रशंसकों को भारत में शिक्षा प्रणाली के बारे में सोचने पर मजबूर कर दिया।

You cannot copy content of this page
Valentine’s 2022: ट्राई करें ये आउटफिट्स, मिलेगा स्टाइलिश और कूल लुक Squid Game 2 : पॉपुलर कोरियन सीरीज का दूसरा सीजन जल्द होगा रिलीज Ibrahim Ali Khan के साथ डिनर करने पहुंचीं Palak Tiwari जब मिले कोमोलिका और प्रेरणा , हुआ जबरजस्त फोटोशूट पीले लहंगे में शहनाज का ट्रेडिटिनल लुक