5 February 2023

क्यों अपनी बहनों के बीच दुश्मनी की वजह बन गए थे औरंगजेब? जानें इस मुग़ल बादशाह की घिनौनी सच्चाई

mughalon ki 100 raniyan kyon thee

Desk : भारत में मुगल बादशाहों की कहानी और उनका इतिहास बेहद दिलचस्प रहा है। लेकिन, मुगल शासन में दो बहनें ऐसी रहीं कि जिनके सम्बन्ध कभी सामान्य नहीं हो पाए और विचारों को लेकर बंटवारा हो गया। उन दो बहनों के नाम है जहांआरा और रोशनआरा, जो मुगल के चर्चित बादशाह शाहजहां की बेटियां थी। भाइयों को सत्ता तक पहुंचाने का इनका प्रेम ही इनके बीच दुश्मनी की वजह बना।


पिता का झुकाव बना बहनों के बीच कहल की वजह : एक दौर वो भी आया जब शाहजहां के बेटे औरंगजेब और दारा शिकोह के बीच सत्ता के संघर्ष हुआ। कहा जाता है कि शाहजहां का झुकाव औरंगजेब और रोशनआरा के मुकाबले बेटे दारा शिकोह और बेटी जहांआरा से ज्यादा रहा। यही वजह रही कि जहांआरा और रोशनआरा बीच कलह की।

कहा जाता है कि शाहजहां अपने पुत्र प्रेम के चलते दारा को न तो जंग में जाने देते थे और न ही सैन्य अभ्यास करने देते थे। लेकिन, जब बारी गद्दी को संभालने की आई तो शाहजहां ने शिकोह को उत्तराधिकारी बनाने का मन बनाया। जो औरंगजेब से लगाव रखने वाली रोशनआरा को नागावर गुजरा। लेकिन, जहांआरा ने इस फैसले का स्वागत किया।

जहांआरा दारा शिकोह को किस कदर मानती थीं यह इस बात से समझा जा सकता है कि दारा की शादी मुगल इतिहास की सबसे महंगी शादी रही। शादी में 32 लाख रुपए का खर्च आया था, जिसमें से 16 लाख रुपए जहांआरा ने दिए थे। दारा को बादशाह बनाने की तैयारियां चल रही थीं, लेकिन औरंगजेब के रहते शाहजहां के लिए ऐसा करना आसान नहीं था। जहांआरा चाहती थीं दारा बादशाह बने, लेकिन रोशनआरा औरंगजेब को मुगल सल्तनत के लिए सबसे काबिल मानती थी।

रिपोर्ट के मुताबिक, मुगल साम्राज्य में बादशाह चुनने की तैयारी के बीच रोशनआरा ने ही पिता और भाई की योजना पर पानी फेर दिया। सत्ता के लिए भाइयों के बीच बढ़ती नफरत को देखकर हालात सामान्य करने के लिए शाहजहां ने औरंगजेब को दिल्ली बुलाया। यह कोई सामान्य बुलावा न होकर औरंगजेब को कैदी बनाकर उसे खत्म करने की साजिश थी। वहीं जब रोशनआरा को इस षडयंत्र की जानकारी मिली तो उसने अपने प्रिय भाई औरंगजेब को सावधान कर दिया और दिल्ली न आने का संदेश भेजा। इस तरह औरंगजेब सुरक्षित हो गया और बाद में उसने दारा शिकोह को मरवाया और अपने पिता शाहजहां को कैद करके मुगल सल्तनत का बादशाह बना।