मर्डर की धमकी हो या कर्मचारी मांगे रिश्वत, बिना डरे ऐसे दर्ज करवाएं FIR, जानें – लिखवाने का तरीका..

FIR

डेस्क : देश में अपराधिक मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं l इसका एक मुख्य कारण बढ़ रहे जनसंख्या को भी कह सकते हैं। इन अपराधों पर काबू पाने के लिए कानूनी व्यवस्था बनाई गई है। यदि कोई अपराधिक मामले आपके साथ घटित होती है तो शीघ्र ही FIR दर्ज करवाना होता है। यह FIR आप अपने नजदीकी थाने में जाकर दर्ज करा सकते हैं। आपको बता दें कि एफ आई आर दर्ज करवाने के लिए अब केवल पुलिस थाने जाना नहीं है, बल्कि आपके पास ऑनलाइन एफआईआर दर्ज कराने के विकल्प भी है। तो आइए फिर से जुड़े कई बातों को विस्तार से जानते हैं।

पहले हम जान लेते हैं कि FIR होता क्या है। दरअसल यह फर्स्ट इनफॉरमेशन रिपोर्ट (FIR) है। जो किसी भी मामले की शुरुआत में पुलिस को लिखवाई जाती है। एफआईआर का जिक्र CrPC 1973 के सेक्‍शन 154 में है। किसी अपराध से संबंधित घटना के संबंध में कार्रवाई के लिए पुलिस के पास दर्ज कराई गई पहली सूचना को प्राथमिकी या FIR भी कहा जाता है।

FIR कोई भी व्यक्ति पुलिस थाने जाकर दर्ज करा सकता है। इसके लिए पीड़ित को एक रुपया भी शुल्क नहीं लगता है। इसके लिए आपको आवेदन लिख कर देना होगा या आप किसी से वहां लिखवा भी सकते हैं। इस पर घटनाक्रम की सभी विवरण देनी होगी हालांकि पुलिस आपसे पूछ भी लेगी। यह रिपोर्ट आने से 24 घंटे के भीतर मजिस्ट्रेट तक भेज दी भेज दी जाएगी।

कई बार ऐसा देखने को मिलता है, जब थाने में एफआईआर लिखने से पुलिस इंकार कर दें। ऐसे में आप SP, IG और DIG तक को चिट्ठी के माध्यम से शिकायत कर सकते हैं। इसके लिए कई राज्यों में सीएम हेल्पलाइन नंबर की व्यवस्था भी की गई होती है, जिसके माध्यम से आप शिकायत कर सकते हैं। अगर इससे भी बात ना बने तो 156(3) के तहत सीधे कोर्ट में शिकायत करने की सुविधा है ऐसे में डरने की कोई बात नहीं है।

ये भी पढ़ें   आखिर Train टिकट पर लिखे 'WL' 'RQWL' और 'GNWL' का मतलब क्या होता है? जान लीजिए बहुत काम आएगा..

हालांकि अब एफ आई आर दर्ज कराने के लिए देश में कई सुविधाएं मौजूद है। अब आप ऑनलाइन भी एफ आई आर दर्ज करा सकते हैं। इसके लिए आपको कुछ प्रक्रियाओं से गुजरना होगा।

ऐसे कर सकते हैं ऑनलाइन FIR दर्ज

  • ऑनलाइन एफ आई आर दर्ज कराने के लिए आपको अपने राज्य के पुलिस पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा।
  • सबसे पहले पुलिस के अधिकारीक पोर्टल biharpolice.bih.nic.in पर विजिट करे।
  • यहां आपको FIR के ऑप्शन मिलेंगे।
  • इन्हे चुनकर अपना यूजर आईडी और फोन नंबर दर्ज कर लें। अब मोबाइल नंबर डालने पर एक ओटीपी आएगा।
  • अब नए खुले पेज पर सभी डिटेल भर देने के बाद आपका शिकायत दर्ज किया जाएगा।
  • FIR होने के बाद इसकी कॉपी आपके पंजीकृत ईमेल पर सेंड कर दी जाएगी।