जांघों के आस पास रगड़ने से होती है जलन तो आजमाएं यह घरेलू नुस्खे, करेगा जबरदस्त ईलाज

jangh katne ke baad

डेस्क : शरीर पर रैशेज हो जाए या किसी को पसंद नहीं हंसकर जब जान हो के बीच हो तो यह और भी मुश्किल हो जाता है। यह जांघों के आपस में रगड़ने या कपड़ों की क्वालिटी की वजह से होता है। इससे आपकी स्क्रीन पर लालिमा, छाले या जलन भी हो जाते हैं। पसीने के चलते यह समस्या गर्मियों में काफी ज्यादा होती है।

हालांकि बाजार में समस्या के समाधान के लिए काफी सारी चीजें उपलब्ध है लेकिन इससे आपके स्किन पर साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं। इसलिए बेहतर होगा कि आप इसके लिए कुछ घरेलू नुस्खे आजमाएं। ये ना केवल केमिकल फ्री हैं, बल्कि यह आसानी से आपके किचन में मिल भी जाता है। यदि आप खुजली से परेशान है तो इसके लिए मॉइशचराइजर आपके लिए कारगर साबित हो सकता है। इसके लिए आप ऑलिव ऑयल, बादाम का तेल और नारियल के तेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं जो आपके स्किन को चिकनाई देने के साथ ठीक भी करेगा। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट हीलिंग गुण होते हैं। कॉटन के सहारे आप इसे अपने स्किन पर लगा सकते हैं।

इसके अलावा आप अपनी त्वचा कोमॉइश्चराइज करने के लिए शहद का इस्तेमाल कर सकते हैं। शहद में एंटीसेप्टिक और इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जो एक अद्भुत प्राकृतिक इलाज बन जाता है। एक चम्मच गुनगुने पानी में दो चम्मच शहद मिलाएं और कॉटन बॉल की मदद से इसे अपने रैशेज वाली जगह पर लगाए और सुखने दे। ऐसा दिन में दो बार करें। एलोवेरा कई सारी समस्याओं में काम आती है। यह चेहरे की सुंदरता से लेकर बालों की खूबसूरती को निखारने के अलावा हेल्थ और स्किन के लिए भी अच्छा होता है।

ये भी पढ़ें   Indian Railways : क्या आप PNR के 10 अंकों का मतलब जानते है? हर नंबर देता है यात्रा की अहम जानकारी..

यदि आप अपने राशन वाले जगह पर एलोवेरा का इस्तेमाल करते हैं तो यह तुरंत सूथिंग प्रदान करके उत्कृष्ट हर्बल के रूप में काम करता है। एलोवेरा के पल्प का पेस्ट बना लें और इसमें दो बूंद टीचर ऑयल डालने अब यह किसी भी तरह के स्किन के खुजली और रूखापन पर काम करेगा। कॉटन बेड की मदद सेइसे आप रैशेज वाली जगह पर लगाए। इन सबके अलावा आप अपनी स्कीन का ख्याल रखें। उसे सूखने दें। यदि आप नहा कर आते हैं तो पूरे शरीर को अच्छे से पोंछे। वर्कआउट करने के बाद जल्द से जल्द कपड़े बदल लें। साथ ही दिन और रात में जितना हो सके सूती कपड़े ही पहने। ताकि आपकी त्वचा खुलकर सांस ले सके और आपकी जान को को जलन से बचा सके।