PAN Card के हर लेटर और संख्‍या में छिपी होती है महत्वपूर्ण जानकारी, जानें – क्‍या है इनका राज…

PAN Card

डेस्क : पैन कार्ड ( Pan Card) एक अहम दस्तावेजों में से एक है। इसकी अधिक इस्तेमाल वित्तीय लेन – देन में होती है। पैन कार्ड में एक 10 डिजिट का पैन नंबर दिया होता है। ये नंबर काफी महत्वपूर्ण है। इसके एक – एक डिजिट का एक विशेष अर्थ है। ये नंबर आयकर विभाग के लिए अवश्य नंबर है। ये कुछ अल्फाबेटिक और कुछ अंको के साथ मिल कर बनाए जाते हैं। क्या आपके मन में ये ख्याल आया कि इसके मतलब क्या होते हैं। यदि आया तो आइए आज हम बताते हैं।

पैन नंबर के शुरुआती के 3 डिजिट A – Z के बीच के होते हैं। नंबर के ये तीनो डिजिट आयकर विभाग तय करेगा। वहीं चौथे अक्षर की बात करें तो ये यह अंग्रेजी के कुछ चुनिंदे शब्दों में से एक होते हैं। इसमें P, C, H, A, T शामिल है। यह पैन धारकों के स्टेटस को दर्शाता है। इन सभी के अपने – अपने मतलब होते हैं।

चौथे अक्षर का ये है मतलब : चौथे अक्षर में यदि P हो तो समझ जाइए की ये किसी व्यक्ति के लिए है। वहीं C का उपयोग कंपनी के लिए किया जाता है। H का मतलब हिंदू अविभाजित परिवार है। A किसी एक समूह के लिए है। B किसी व्यक्ति के लिए निकाय के लिए है। वहीं G किसी सरकारी एजेंसी, J कृत्रिम न्यायिक व्यक्तिगत, L किसी स्थानीय किकाय, F किसी फार्म और T किसी ट्रस्ट को दर्शाता है। वहीं कार्ड का पांचवा अंग्रेजी अक्षर व्यक्ति के टाइटल को देखते हुए तय की जाती है। इसके बाद अब कार्ड पर चार अंक नंबर में लिखे होते हैं ये 0001 – 9999 के बीच होता है। ये नंबर आयकर विभाग में चलने वाले सीरीज बताता है। अब अंतिम और दसवां डिजिट अल्फाबेटीक होता है। ये कुछ भी दिया जा सकता है।

ये भी पढ़ें   वाशरूम में मौजूद फ्लश के दो बटन क्यों होते हैं? आज जान लें मतलब