29 January 2023

क्यों इस्तेमाल किए जाते हैं अलग अलग रंग के Helmet? जानिए क्या है रंगों का भेद

क्यों इस्तेमाल किए जाते हैं अलग अलग रंग के Helmet? जानिए क्या है रंगों का भेद 1

डेस्क: कई जगहों पर आपने अक्सर लोगों को अलग अलग रंग के Helmet में या फिर हार्ड हैट पहने जरूर देखा होगा। Helmet पहनने का जाहिर मतलब है कि इसे सुरक्षा के नजरिए से पहना गया है। ताकि व्यक्ति का सर बचा रहे उसपर कोई चीज यदि गिरे भी तो उसे चोट न लगे। तो क्या आप कभी सोचा कि इनके रंग अलग-अलग क्यों होते हैं? क्या ये सिर्फ इस कारण से कि कर्मचारियों को अलग लुक देने के लिए या फिर इसके पीछे कोई और वजह है? तो चलिए आज आपको बताते हैं ये अलग रंगके Helmet kya दर्शाते हैं।

White Hard Hat : जिस भी साइट पर निर्माण कार्य चल रहा होगा वहां सफेद हार्ड हैट (White hard hat) सुपरवाइजर, मैनेजर या ऊंचे पोस्ट वाले लोग पहनते हैं। आमतौर पर वैसे लोग जिनके अंडर में अन्य कई लोग काम करते हैं और ये उनकी जिम्मेदारी होती है कि वो दूसरों की सुरक्षा करें। ऐसा माना जाता है कि सफेद हेलमेट गर्मी के दिनों में सुपरवाइजर का दिमाग ठंडा रखता है जिससे वो निर्माण की प्लानिंग अच्छे से कर पाएं।

Yellow Hard Hat : कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री में जितने भी लोग मैनुअल लेबर में लगे होते हैं वो पीला हेलमेट (Yellow hard hat) पहनते हैं। इनका काम भारी मशीन चलाने में, गड्ढे खोदने में या फिजिकल टास्क करना होता है। पीला हेलमेट देखकर ये पता लग जाता है कि व्यक्ति कंस्ट्रक्शन वर्कर है. ऐसे में उसे कभी भी डिस्टर्ब नहीं करना चाहिए।

Green Hard Hat : हरे रंग (green hard hat) की हार्ड हैट किसी साइट पर मौजूद सेफ्टी इंस्पेक्टर पहनता है। या फिर ये किसी नए कर्मचारी के लिए जो उस साइट पर नया आया है। प्रोबेशनरी स्टाफ भी ग्रीन हेलमेट पहनता है।

Blue Hard Hat : आमतौर पर बढ़ई, टेक्निकल ऑपरेटर या बिजलीकर्मी नीला हेलमेट (Blue hard hat) का इस्तेमाल करते है । आम कर्मियों के लिए नीली हार्ड हैट काफी आम बात होती है। नीला रंग ये दर्शाता है कि उनके पास किसी काम को करने की काफी एक्सपर्टीज़ और ट्रेनिंग है।

Orange Hard Hat : नारंगी या ऑरेंज रंग (Orange hard hat) का हेलमेट लिफ्टिंग का काम करने वाले लोग पहनते हैं। इस है का इस्तेमाल मुख तौर पर सामानों को उठाने में मदद करने वाले या फिर ट्रैफिक मार्शल और सिग्नल में मदद करने वाले कर्मी पहनते हैं जब साइट पर क्रेन चलाने वाले को बेहद भारी सामान क्रेन की मदद से उठाना पड़ता है तब यही लिफ्टिंग ऑपरेटर्स उनको सामान उठाने में सहायता करते हैं और गाइड भी करते हैं।

Brown Hard Hat : भूरे रंग (brown hard hat) की हार्ड हैट या मोटा हेलमेट वेल्डर या वो लोग पहनते हैं को या तो अत्याधिक गर्मी या फिर आग के पास रह कर काम करते हैं। मालूम हो वेल्डिंग करने वालों के लिए आखों की सुरक्षा के लिए चश्मे जैसी शील्ड भी दी जाती है को चिंगारियों को आंखों में जाने से बचाती है।

Red Hard Hat : जिन जगहों पर कंस्ट्रक्शन का काम चल रहा होता है वहां फायर मार्शल होते हैं। इनकी जिम्मेदारी होती ha उस जगह पर आग को दूर रखना और यदि आग की स्थिति उत्पन्न हो तो उससे लोगों की रक्षा करना। इन अलावा आम फायर ब्रिगेड के कर्मी भी लाल हेलमेट (red hard hat) ही पहनते हैं। ये रंग दूर से ही नजर में आ जाता है।

Pink Hard Hat : वैसे कंस्ट्रक्शन साइट पर पिंक हार्ड हैट (pink hard hat) कम ही दिखेगा। जिन जगहों पर इसका इस्तेमाल होता है, वहां महिलाएं इसे पहनती हैं। गुलाबी रंग को महिलाओं से जोड़ा गया है। तो पिंक हेलमेट महिला कर्मियों के लिए बनाया गया है। हालांकि कई बार इस Helmet को वो कर्मी भी पहनते हैं जिन्होंने अपना Helmet खो दिया है या कहीं भूल आएं हों।

Grey Hard Hat : हल्का या गहरे रंग का ग्रे (grey hard hat) हेलमेट कंस्ट्रक्शन साइट पर विजीटर्स की लिए बनाया गया है। ये लोग वो हैं जो कर्मी नहीं है पर साइट पर मौजूद हैं तो उनकी सुरक्षा के लिए इसका निर्माण किया गया है।