हरे रंग की स्प्राइट बोतल हुई बंद! जानें क्यों गायब हुआ 61 साल पुराना रंग

sprite green bottle

डेस्क : लोकप्रिय सॉफ्ट ड्रिंक स्प्राइट के शौकीनों के लिए खास खबर सामने आयी है जहां पर अब आपको हरे रंग की पहले वाली बोतल नहीं मिलेगी, जी हां ज 1 अगस्त से यह लागू हो चुका है जहां आपको हरे रंग की बजाय सफेद रंग या ट्रांसपेरेंट बोतलों में बेचने का फैसला जारी किया गया है। आपको बताते चलें कि, कंपनी ने यह फैसला 61 साल के बाद लिया है।

हरे रंग की स्प्राइट बोतल हुई बंद! जानें क्यों गायब हुआ 61 साल पुराना रंग 1
हरे रंग की स्प्राइट बोतल हुई बंद! जानें क्यों गायब हुआ 61 साल पुराना रंग 5

आपको बता दे कि, सबसे लोक प्रिय सॉफ्ट ड्रिंक को कोका कोला कंपनी ने 1961 में पहली बार अमेरिका में लॉन्च किया था जिस वक्त यह हरे रंग में मिलती थी जिसके बाद अब बदलाव किया गया है। जहां कोका कोला कपंनी ने 27 जुलाई को एक बयान जारी किया था जिसकी घोषणा में कहा था कि, 1 अगस्त से स्प्राइट हरे रंग की बोतल में नहीं बेची जाएगी। जिसे लेकर कारण यह बताया गया कि, उनके ये कदम पर्यावरण के प्रति जिम्मेदार बनने के प्रयासों का हिस्सा है।

हरे रंग की स्प्राइट बोतल हुई बंद! जानें क्यों गायब हुआ 61 साल पुराना रंग 2
हरे रंग की स्प्राइट बोतल हुई बंद! जानें क्यों गायब हुआ 61 साल पुराना रंग 6

यह फैसला केवल स्प्राइट ही नहीं बल्कि अन्य ड्रिंकिंग प्रोडक्ट्स को भी क्लियर बोतल में पेश करेगी, जो हरे रंग की बोतल में मिलते हैं। इसमें फ्रेसका, सीग्राम्स और मेलो यलो शामिल है। वही 2022 के फैसले से पहले भी नया बदलाव हो चुका है जहां 2019 में ही यूरोपीय देशों एंव साउथ एशियाई देशों में स्प्राइट की हरे रंग की बोतल की स्थान पर ट्रंसपेरेंट बोतलों का इस्तेमाल किया गया था।

हरे रंग की स्प्राइट बोतल हुई बंद! जानें क्यों गायब हुआ 61 साल पुराना रंग 3
हरे रंग की स्प्राइट बोतल हुई बंद! जानें क्यों गायब हुआ 61 साल पुराना रंग 7

आपको बताते दें कि सन् 1961 में इस पॉपुलर ड्रिंक्स के लॉन्च होने के बाद उस समय ये ब्रांड हर लोगों की पसंद बन चुका था। और हर घर की पहचान हुआ करता था जहां पर धीरे-धीरे भारत समेत दुनिया भर में हरे रंग की बोतलों को क्लियर बोतल से रिप्लेस करने की तैयारी हो गई है। जैसा कि, आप सभी जानते है स्प्राइट कोका कोला का ब्रांड है तो वही पर तीसरी सबसे ज्यादा और कोक के बाद कोका कोला सबसे ज्यादा बिकने वाली सॉफ्ट ड्रिंक कहलाता है।

ये भी पढ़ें   आखिर मोबाइल में क्यों दिया जाता IMEI नंबर? आज जान लीजिए इसका काम..