December 6, 2022

व्यक्ति को सांप काट लेने पर घबराएं नहीं! तुरंत ऐसे होगा समाधान – आज जान लीजिए

व्यक्ति को सांप काट लेने पर घबराएं नहीं! तुरंत ऐसे होगा समाधान - आज जान लीजिए 1

मानसून कुछ ही दिनों में खत्म हो जाएगा। हालांकि मानसून खत्म होने से पहले बिहार में मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे तेज हवा के साथ अच्छी बारिश होने का पूर्वानुमान जारी किया है। उत्तरी बिहार के तुलना में दक्षिण बिहार में ज्यादा बारिश होने के आसार हैं। पिछले दो दिनों से हो रही बारिश के कारण बिहार के ग्रामीण क्षेत्रों में सांप का आतंक भी बढ़ गया है।

सांप के काटने से ज्यादा डर से होती है मौत – बारिश से बिलों में पानी भर जाता है, जिसके कारण सांप भी सूखे स्थान की खोज करने लगते हैं और खेत से निकल कर घरों में जाने लगते हैं। और घरों में हलचल के कारण बारिश से बचने के लिए शरण लिए सांप आक्रमक हो जाते हैं और वो डस लेते हैं। मालूम हो सांप 150 से भी अधिक प्रजाति के होते हैं।

जिसमें केवल चार- पांच प्रजाती के सांप ही जहरीले होते हैं। जिनके काटने से लोगों की मृत्यु हो जाता है। ये जहरीले सांप हैं कोबरा,करैत,रसल्स वाइपर और शॉ स्केल्ड वाइपर। इनके काटने से मौत हो सकती है।विशेषज्ञ बताते हैं कि इसमें सबसे ज्यादा घातक जहर कोबरा सांप का होता है। जिसमें समय पर इलाज न मिलने से तीन घण्टे में मौत हो जाती है।

सांप के काटने का बचाव कैसे करें

  1. कोई भी सांप काटे तो घबराएं नहीं, शांत रहने का प्रयास करें
  2. काटे गए स्थान को हिलाए डुलाए नहीं और वहां एंटी वेनम लगाएं
  3. पीड़ित के शरीर पर कोई भी कसाव वाली वस्तु न रहने दें(बेल्ट,जूते की लेस) बंधा न छोड़े, ये रक्तचाप बढ़ाता है।
  4. पीड़ित को जितनी जल्दी हो सके, पास के स्वास्थ्य केंद्र ले जाएं व डॉक्टरी उपचार करवाएं
ये भी पढ़ें   आखिर कैसे होता है सैनिक स्कूल में बच्चें का एडमिशन - जान लीजिए पूरी डिटेल..

सर्पदंश के दौरान क्या नहीं करें

1.ओझा या तांत्रिक के पास जाकर झाड़ फूंक नहीं करवायें.

2.काटे गए स्थान पर ब्लेड व धारीदार वस्तु न लगाए

3.पीड़ित को ज्यादा चलने न दें,व उसे किसी वाहन व व्हीलचेयर या स्ट्रेचर की सहायता से स्वास्थ्य केंद्र ले जाएं.

4.कोबरा या करैत सांप के काटने पर पीडि़त को सोने न दें.

5 सोने पर रक्त का प्रवाह तेजी से बढ़ता है

कैसे बचे सांप के काटने से

  • घरों के आस-पास साफ-सफाई रखें,कोई कबाड़ न होने दें
  • चूहे के बिलों को करें बंद
  • पानी निकालने वाली नालियों पर लगाएं बारीक जाली
  • घरों में किसी बेला या पेड़ से लटकी हुई डाल को न रहने दें
  • तंग जगह व बिल में भूल कर भी हाथ न डालें