January 21, 2022

आखिर रेल की पटरी से चमक क्यों नहीं हटती ? कैसे बिना जंग लगे हमेशा चिकनी और सपाट दिखती है पटरियां

Railway Track

डेस्क : यदि आप रेलवे से यात्रा करना पसंद करते हैं तो रेलवे स्टेशन पहुँचने पर या ट्रेन में सफर के दौरान आपने अक्सर ही पटरियों (Railway Track) की तरफ नजर दौड़ाई होगी। अक्सर ही पटरी के ऊपर का हिस्सा हमें चमकता हुआ नजर आता है, वही पटरी के साइड में हमें जंग लगा हुआ हिस्सा दिखता है। ऐसे में दिमाग में यह सवाल जरूर आता है कि आखिर पटरी के ऊपर जंग क्यों नहीं लगता ? कैसे वह हमेशा चमकती रहती है।

दरअसल इसके लिए आपको विज्ञान समझना होगा। बता दे कि जब भी लोहा हवा के संपर्क में आता है तो उसके ऊपर एक भूरे रंग की परत जम जाती है और लोहा धीरे-धीरे खराब होने लगता है, जिसको जंग लगना कहते है। इस वजह से पटरी पर एक खास तरह का मेटल बिछाया जाता है। यह मेटल स्टील मैंगनीज से बना होता है। इस मेटल पर 12 फ़ीसदी मैगनीज लगाया जाता है और 1% से भी कम मात्रा में कार्बन का प्रयोग किया जाता है। जब यह परत पटरी पर चढ़ाई जाती है तो पटरी में जंग लगने की संभावना कम हो जाती है।

यदि पटरियों को लोहे से बनाया जाए तो वह ज्यादा जंग ग्रसित हो जाती हैं और दुर्घटना होने के चांस बढ़ जाते हैं। ऐसे में मौसम की मार पड़ने की वजह से भी यह यह परेशानी खड़ी हो जाती है। बारिश के समय में पटरियां काफी फिसलने लगती है लेकिन इस मेटल से वह जंगरोधक के साथ मजबूत बन जाती है। यदि भारतीय रेलवे की बात करें तो भारत में 1,15,000 किलोमीटर से भी ज्यादा क्षेत्र में रेलवे का नेटवर्क मौजूद है।

सबसे कम स्पीड में चलने वाली रेलगाड़ी का नाम मीटू पलयम नीलगिरी पैसेंजर ट्रेन है जो मात्र 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलती है बता दें कि इस इलाके में काफी ज्यादा बारिश होती है जिसके चलते खास तौर पर कहा जाता है कि यहां पर ट्रेन की स्पीड बढ़ाई नहीं जाती। इस इलाके में काफी ज्यादा बारिश होती है।

You cannot copy content of this page
Mushrooms Benifits : मशरूम से जुड़ी कुछ खास बातें सादगी में खूबसूरती बिखेरती रकुल प्रीत सिंह टीवी की विलेन के तौर पर मशहूर हुईं ये अभिनेत्रियां,आइए जानें दिशा वकानी से मोहिना कुमारी तक, परिवार के लिए छोड़ी एक्टिंग Jaggry rice Recipe : सर्दियों में झटपट बनाएं गुड़ के चावल