आखिर पीले ही रंग की क्यों होती है टैक्सी? जानें इसके पीछे की ये बड़ी वजह…

Why Taxi Color Yellow Know

डेस्क : आज के समय में चार पहिया वाहन काफी आम हो गए हैं। अब मध्यम वर्ग के लोग भी बैंकों से मिलने वाली सुविधाओं के कारण कार खरीदते हैं। आपको निजी इस्तेमाल के वाहनों के कई रंग देखने को मिलेंगे। लेकिन आपने देखा होगा कि टैक्सियां ​​हमेशा पीले रंग की होती हैं। सभी महानगरों, या जहां टैक्सी संस्कृति है, उनके वाहन पीले रंग के होते हैं। लेकिन क्या आपने कभी इसके पीछे का कारण जानने की कोशिश की है?

टैक्सी के पीले रंग के पीछे एक खास वजह है। इस रंग को टैक्सी के लिए बहुत सोच-समझकर चुना गया था। अगर रंग गंदा होने की दृष्टि से तय किया जाता तो शायद उसका रंग लाल या काला ही रहता। ये रंग जल्दी गंदे पीले रंग में बदल जाते हैं और इस पर गंदगी का जल्दी पता चल जाता है। लेकिन इसके बाद भी टैक्सी के पीले रंग को बहुत सोच समझकर रखा गया है.

देखना आसान : वैज्ञानिकों ने जब इसका सर्वे किया तो पता चला कि पीला रंग लोगों को ज्यादा आकर्षित करता है। साथ ही यह रंग दूर से भी दिखाई देता है। पीला एक ऐसा रंग है जो ओस, बारिश और यहां तक ​​कि कोहरे में भी दिखाई देता है। यदि सड़क पर हल्की रोशनी भी हो तो पीला रंग परावर्तित हो जाता है। अगर आपको इस बात पर विश्वास नहीं है तो आप खुद एक प्रयोग कर सकते हैं। अगर आप करीब 10 रंग एक निश्चित दूरी पर रखेंगे तो सबसे पहले आपकी नजर पीले रंग पर होगी। ऐसे में जब लोग टैक्सी का इंतजार करते हैं तो सड़क पर दौड़ रहे तमाम वाहनों में से सबसे पहले उनकी नजर टैक्सी पर होती है.

ये भी पढ़ें   वाशरूम में मौजूद फ्लश के दो बटन क्यों होते हैं? आज जान लें मतलब

आँखों को आकर्षित करता है : टैक्सी को पीले रंग में रंगने में पार्श्व परिधीय दृष्टि की बड़ी भूमिका होती है। इस दृष्टि से हम माप सकते हैं कि कौन सा रंग आंखों को अधिक आकर्षित करता है। पीले रंग की पार्श्व परिधीय दृष्टि लाल रंग की तुलना में 1.24 गुना अधिक होती है। यानी यह रंग अन्य रंगों के मुकाबले आंखों को इतना ज्यादा आकर्षित करता है। इस कारण से न केवल टैक्सियों बल्कि बच्चों के स्कूली वाहनों का भी रंग पीला रखा जाता है। हालांकि, ओला और उबर के आगमन के साथ, अन्य रंगीन कैब दिखाई देने लगी हैं। लेकिन इसके बाद भी इनके महत्वपूर्ण अंगों को पीले रंग से रंगा जाता है।