BPSC ने 67वीं परीक्षा के लिए किए के कई बड़े बदलाव, ऐसे भरे फॉर्म

BPSC 65

डेस्क : बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) ने 67वीं प्रारंभिक परीक्षा से जुड़े कुछ बदलाव किए हैं। इस बार आपको सतर्कता से परीक्षा फॉर्म भरनी होगी। बीपीएसी के संयुक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार ने इसको लेकर बीते कल यानी रविवार एक अधिसूचना जारी की है। इस बार प्रारंभिक परीक्षा हेतु आनलाइन फॉर्म भरने के समय ही रजिस्ट्रेशन तथा आवेदन दोनो साथ में ही भरी जा सकती है। मालूम हो कि अभी तक यह दोनों प्रोसेस अलग-अलग करनी पड़ती थी। ज्यादा जानकारी प्राप्त हेतु अभ्यर्थी https://www.bpsc.bih.nic.in/ पर लिंक कर जान सकते हैं।

परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार ने कहा कि अभी तक रजिस्ट्रेशन, भुगतान व फॉर्म भरने में 2-3 लगते थे, जो कि अब महज़ एक घंटे में ही यह प्रक्रिया पूरी हो सकती है। उन्होंने आगे कहा कि आवेदक को आनलाइन फॉर्म पूर्ण रूप जमा करने से पहले एक बार प्रिंट करके अवश्य देख लेना चाहिए। यदि इसमें किसी तरह की त्रुटि हो तो उसे सुधारा जा सकता है। इस बार आवेदन की अंतिम तिथि के 10 दिनों के बाद भी गलती सुधाने का आप्शन दिया रहेगा। दिए गए अवधि के बाद त्रुटि सुधार करने का कोई विकल्प नहीं दिया जाएगा।। एक बात और ध्यान रहें कि इस साल एक से ज्यादा आवेदन करने पर अभ्यर्थी की उम्मीदवारी रद हो जाएगी।

परीक्षा के लिए महत्वपूर्व निर्देश

  1. ध्यान रखें कि आनलाइन फॉर्म भरते वक्त दिए गए विकल्प आरक्षण पर दावा ना करने वाले को अभियार्थी को दोबारा से मौका नहीं दिया जाएगा।
  2. आरक्षण का लाभ लेने वाले अभियर्थियों को स्थानीय आवासीय प्रमाण पत्र देना होगा।
  3. आनलाइन आवेदन करने के समय आवेदकों के पास सक्षम प्रमाण पत्र होना आवश्यक है, गड़बड़ी होने पर दोबारा इसका का लाभ नहीं मिलेगा।
  4. आरक्षण का लाभ लेने वाली विवाहित महिलाओं की जाति/क्रीमीलेयर सहित प्रमाण पत्र और उनके पिता के नाम व पते के साथ होना चाहिए, उनके पति के नाम से नहीं होगा।
  5. अस्थायी दिव्यांगता पत्र जो कि एक समय के सब रिन्यू करवाना होता है, ऐसे में यदि निर्धारित समय के बाद नवीनीकरण ना होने पर प्रमाण पत्र विधि मान्य नहीं होगी।
You cannot copy content of this page