Friday, July 19, 2024
Business

आखिर क्या होता है Blue Aadhar Card? क्या है इसका काम, जानें- कैसे करें अप्लाई…..

How To Apply For Blue Aadhar : आज के समय में आधार कार्ड सबसे जरूरी दस्तावेज बन चुका है और इसके बिना आप किसी भी सरकारी योजना का फायदा नहीं ले सकते हैं। वहीं दूसरी तरफ आधार कार्ड (Aadhar Card) एक पहचान पत्र और एड्रेस प्रूफ के रूप में काम आता है।

आजकल सभी कामों के लिए आधार कार्ड सबसे पहले बनाया जाता है, चाहे आपके बैंक में खाता खोलना हो या स्कूल में एडमिशन लेना हो या किसी सरकारी योजना का फायदा लेना हो। इसके अलावा पासपोर्ट बनवाने, पैन कार्ड बनवाने या गैस सिलेंडर की सब्सिडी पाने के लिए भी आधार कार्ड होना जरूरी है।

लेकिन क्या आपको पता है कि देश में एक नहीं बल्कि कई प्रकार के आधार कार्ड (Aadhar Card) चलन में है? इनमें एक ब्लू आधार कार्ड भी होता है जिसके बारे में शायद आपने नहीं सुना होगा। क्या आपको पता है ये क्या होता है और कौन इसे बनवा सकता है? आज हम आपको ब्लू आधार कार्ड (Blue Aadhar Card) के बारे में ही पूरी जानकारी देने जा रहे हैं। आइये जनाते है इसके बारे में….

क्या होता है ब्लू आधार कार्ड?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आधार कार्ड जारी करने वाली संस्था UIDAI ने साल 2018 में ब्लू आधार कार्ड की शुरुआत की थी। ये आधार कार्ड बच्चों के लिए बनाए जाते है। इसे बाल आधार या ब्लू आधार (Blue Aadhar Card) भी कहा जाता है। इसका कलर ब्लू यानी नीला आता है इसलिए इसे ब्लू आधार कार्ड भी कहा जाता है। ये 5 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए बनवाया जाता है। इसे बाद में आप अपडेट करवा सकते है।

नहीं है बायोमैट्रिक की जरूरत

ब्लू या बाल आधार कार्ड (Blue Aadhar Card) सामान्य आधार कार्ड से थोड़ा अलग होता है और यह सिर्फ 5 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए ही बनाया जाता है। इसलिए इसमें बच्चों के बायोमेट्रिक लेने की जरूरत नहीं पड़ती है। इसमें बच्चे के माता-पिता की UID की जानकारी और बच्चे का फोटो लिया जाता है। इसके बाद बच्चे की उम्र 5 साल और 15 साल होने पर इसमें बायोमैट्रिक अपडेट करवाना होता है।

ब्लू आधार कार्ड बनवाने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको uidai.gov.in वेबसाइट पर जाकर आधार कार्ड का ऑप्शन चुनना होगा।
  • इसके बाद बच्चे का नाम, पैरेंट/गार्जियन का फोन नंबर और जरूरी जानकारी डालें।
  • अब आपको आधार कार्ड के रजिस्ट्रेशन के लिए अपॉइंटमेंट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद सबसे नजदीकी एनरोलमेंट सेंटर का पता लगाकर अपॉइंटमेंट बुक कर लें।
  • इसके बाद अपना आधार, बच्चे का डेट ऑफ बर्थ सर्टिफिकेट, रेफरेंस नंबर आदि लेकर आधार सेंटर पर जाएं।
  • यहां पर आधार कार्ड बनवाने के बाद आपको एकनॉलेजमेंट नंबर दिया जाएगा, जिसके जरिए आप इसे ट्रैक कर सकते हैं।

Durga Partap

दुर्गा प्रताप पिछले 1 सालों से बतौर Editor में के रूप में thebegusarai.in से जुड़े। इन्हें बिजनेस, ऑटोमोबाइल्स और खेल जगत से जुड़ी खबरे को गहराई से लिखने में काफी दिलचस्पी है। पिछले 5 साल से वह कई समाचार पत्रों और पत्रिकाओं में लगातार योगदान देते रहे हैं। दुर्गा ने MDSU से BCA की पढ़ाई पूरी की है।