महज 5000 रुपये में लें Post Office की फ्रेंचाइजी, 10% तक का मिलेगा कमीशन, यहां जाने पूरी जानकारी..

महज 5000 रुपये में लें Post Office की फ्रेंचाइजी, 10% तक का मिलेगा कमीशन, यहां जाने पूरी जानकारी.. 1

डेस्क : Post Office को देश की धमनी कहा जाता है। देश भर में 300,000 से अधिक डाकघर हैं। कृपया ध्यान दें कि ये डाकघर न केवल पत्र या पार्सल वितरित करते हैं, बल्कि बचत योजनाओं और बीमा जैसी वित्तीय सेवाएं भी प्रदान करते हैं। डाकघर न केवल आपको ब्याज से पैसा कमाने का अवसर प्रदान कर रहा है, अब आप एक डाकघर फ्रेंचाइजी प्राप्त कर सकते हैं। इस फ्रेंचाइजी को अपने क्षेत्र में लेकर आप आम लोगों की सेवा कर सकते हैं और खुद अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं। इस खबर में हम आपको बताएंगे कि आप इसका फायदा कैसे उठा सकते हैं।

डाक विभाग फ्रेंचाइज़िंग कर रहा है : डाक विभाग की फ्रेंचाइजी लेकर आप स्टाम्प, स्पीड पोस्ट, रजिस्ट्री, मनीआर्डर आदि सेवाएं देकर कमाई कर सकते हैं। इस योजना के तहत कोई भी भारतीय नागरिक डाकघर की फ्रेंचाइजी ले सकता है। भारतीय डाक विभाग ने फ्रेंचाइजी मॉडल के तहत डाकघरों की स्थापना शुरू कर दी है। एक बार डाकघर की फ्रेंचाइजी हो जाए। उन 6 महीनों के बाद इसे और आगे ले जाने के लिए इसकी समीक्षा की जाएगी। डाक विभाग के अनुसार यदि आपका काम अच्छा है तो उसका प्रमोशन होगा।

ऐसे करें अप्लाई : पोस्ट ऑफिस फ्रैंचाइज़ी प्राप्त करने के लिए आपकी न्यूनतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिए। इसके अलावा आपके पास 8वीं पास की मार्कशीट होनी चाहिए। इस योजना की अनूठी विशेषता यह है कि इसकी कोई अधिकतम आयु सीमा नहीं है, यानी आप सेवानिवृत्ति के बाद भी इसे फ्रेंचाइजी कर सकते हैं। अगर आप इसके लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपको 5,000 रुपये सुरक्षा के तौर पर डाक विभाग के पास जमा कराने होंगे और आपके पास 200 वर्ग फुट का ऑफिस भी होना चाहिए. उसके बाद आपको फ्रेंचाइजी मॉडल पर पोस्ट ऑफिस मिलेगा।

ये भी पढ़ें   आखिर क्या हैं Loan रिकवरी के नियम? जबरदस्ती कोई नहीं वसूल सकता..जानिए - गाइडलाइन..

कमीशन कितना होगा : भारतीय डाक विभाग की वेबसाइट के मुताबिक रजिस्ट्रेशन पर 3 रुपये, स्पीड पोस्ट पर 5 रुपये, टिकट की बिक्री पर टिकट की कीमत पर 5 फीसदी कमीशन, स्पीड पोस्ट पार्सल पर 7 से 10 फीसदी कमीशन मिलता है। आयोग के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप आधिकारिक वेबसाइट पर भी जा सकते हैं।

आप यहां पोस्ट ऑफिस खोल सकते हैं : डाकघर केवल उन्हीं स्थानों पर खोले जा सकते हैं जहां वर्तमान में कोई डाकघर नहीं है। जहां आप रहते हैं और उस इलाके में कोई पोस्ट ऑफिस नहीं है तो आप फ्रेंचाइजी मॉडल पर पोस्ट ऑफिस खोल सकते हैं। दूरदराज के क्षेत्रों में रहने वाले बेरोजगार युवा भी इसका लाभ उठा सकते हैं।

फ्रेंचाइजी कितने प्रकार की होती है : डाक विभाग की वेबसाइट के मुताबिक विभाग की ओर से दो तरह की फ्रेंचाइजी ऑफर की जा रही हैं। पहला विकल्प फ्रैंचाइज़ी आउटलेट शुरू करना है और दूसरा डाक एजेंट बनना है। जहां डाक सेवा की मांग है लेकिन वहां डाकघर खोलना संभव नहीं है, वहां फ्रेंचाइजी के माध्यम से आउटलेट खोले जा सकते हैं। वहीं, डाक एजेंट ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में टिकट और स्टेशनरी बेच सकते हैं।