29 January 2023

अब रहना भी होगा महंगा! अचानक बढ़ गए घर के रेंट, जानें -नया रेट..

home subsidy

डेस्क: महंगाई लगातार बढ़ रही है अब इसी क्रम में अब किराया भी बढ़ने की खबर सामने आई है। कई बड़े शहरों में मकान के किराए में बढ़त हो जा रही है। जारी एक रिपोर्ट के अनुसार अब किराए में 15 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है। इतना ही नहीं आने वाले समय रेंट में और भी ज्यादा तेजी देखी जा सकती है।

हाउसिंग सेक्टर पर काम करने वाली कंपनी मैजिकब्रिक्स ने अपने रिपोर्ट में बताया बड़े शहरों में घरों के किराये में 15 परसेंट तक की ‘बढ़ोतरी देखी जा रही है. जिन शहरों में किराये में वृद्धि हुई है उनमें दिल्ली, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गुरुग्राम, कोलकाता, हैदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई जैसे शहर हैं।’

जहां राजधानी दिल्ली में करीब 9% वहीं नोएडा में 11 और ग्रेटर नोएडा में 6% तक किराए में इजाफा देखा गया है। इसके साथ कोलकाता में किराये 7% बढ़ा तो हैदाराबाद में 14 और बेंगलुरु में 13% की वृद्धि देखी गई है। साथ ही ये बढोतरी चेन्नई में 4%, पुणे में 9%, मुंबई में 6%, अहमदाबाद में 4% की दर से रिफॉर्ड की गयिभाई। मालूम हो बीते एक साथ मकान के किराए में इतनी बढोतरी हुई है। दिए गए सभी शहरों में हैदराबाद टॉप पर है जहां सबसे अधिक किराये में वृद्धि दर्ज की गई है। अहमदाबाद और चेन्नई में सबसे कम 4 परसेंट के आसपास किराये में बढ़ोतरी देखी गई है।

क्यों बढ़ा किराया : अब सवाल ये है कि अचानक मकान के किराये में बढ़ोतरी क्यों देखी गैभाई। इस बारे में मैजिकब्रिक्स की रिपोर्ट के अनुसार “जो लोग कोविड के दौरान घर लौट गए थे, अब वापस शहर आ गए हैं। कंपनियों ने वर्क फ्रॉम होम भी खत्म कर दिया है। स्कूल-कॉलेज से लेकर कंपनी और फैक्ट्री तक फुल चल रही हैं। कोविड के दौरान मकान खाली रहने से किराये में गिरावट या स्थिरता देखी गई। अब जब स्थिति सामान्य हो गई है तो मकानों में तेजी आ गई है। इस मांग के बढ़ने से किराये में तेजी देखी जा रही है।”

मांग और आपूर्ति में भारी अंतर के वजह से भी किराए में बढ़ोतरी हुई है। जैसे घरों की मांग तेजी से बढ़ी है उसी तेजी से घर मिलने के आसार बेहद कम हैं। यानी जितने लोग शहर में आए हैं, उतने लोगों के हिसाब से मकान बने नहीं हैं या खाली नहीं हैं। इसी वजह से मांग और आपूर्ति में अंतर के चलते प्रॉपर्टी मार्केट में बड़ा अंतर साफ दिख रहा है। कई शहरों में हालत ये है कि घरों की मांग 18-20 परसेंट तक बढ़ी है, लेकिन आपूर्ति आधे परसेंट तक भी नहीं बढ़ पाई है। ऐसे में किराये में बढ़ोतरी लाजिमी है।

क्या कहती है एनारॉक की रिपोर्ट : किराये को लेकर हाल में एनारॉक ने भी एक रिपोर्ट जारी की जिसमें बताया गया कि “छोटे शहरों से लेकर बड़े महानगरों तक सब जगह घरों के किराये बढ़े हैं। पॉश कॉलोनी में किराये में बढ़ोतरी 8 से 18 परसेंट तक देखी जा रही है। घरों का किराया पिछले दो साल में 18 परसेंट तक बढ़ा है, लेकिन उसी मकान की कीमत अधिकतम 9 परसेंट तर बढ़ी है।” तो अगर आप घर खरीद रहे हैं तो आपको उतनी बढ़ोतरी नहीं दिखेगी जितनी बढ़ोतरी किराये पर घर लेने में दिख रही है।