December 7, 2022

खुशखबरी! सरिया और सीमेंट के भाव में आई तगड़ी गिरावट – नया रेट जान खिल उठेगा चेहरा..

CEMENT

डेस्क : विगत महीने मार्च-अप्रैल के दौरान सरिये का भाव रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया था. इसके बाद सरकार ने स्टील पर एक्सपोर्ट ड्यूटी (Export Duty On Steel) को बढ़ाने का फैसला लिया. इसकी वजह से घरेलू बाजार में स्टील के दाम भी तेजी से गिरे. सरिये के दाम में आयी कमी की मुख्य वजह भी यही है. दूसरी तरफ मानसून के कारण देश के कई हिस्सों में हो रही भारी बारिश के चलते निर्माण गतिविधियों में भी कमी आने का असर डिमांड पर हुआ था

जैसे-जैसे मानसून वापस लौटने लगा है, देश के विभिन्न हिस्सों में बारिश में भी कमी आने लगी है. इसके साथ साथ निर्माण गतिविधियों (Construction Activities) में तेजी आने लगी है. इससे पहले मानसून के चलते उत्पन्न हुए बारिश और बाढ़ जैसे हालात ने निर्माण गतिविधियों को एकदम ठप कर दिया था. हालांकि अब इस सेक्टर की गतिविधियों में सुधार आने लगा है, जिसका सीधा असर सीमेंट (Cement) और सरिया (Sariya) जैसी सामग्रियों के दाम पर हो रहा है. पिछले दो सप्ताह के दौरान सरिये के भाव कई शहरों में बढ़े हैं. हालांकि अभी भी यह 2-3 महीने पहले की तुलना में ठीक-ठाक किफायती मिल रहा है. अगर आपको भी घर बनवाना है तो अब देरी न करें, वर्ना सरिया-सीमेंट के महंगे होने से आपकी लागत भी बढ़ सकती है.

एक्सपोर्ट ड्यूटी बढ़ने का हैं असर : आपको बता दें कि विगत माह मार्च-अप्रैल के दौरान सरिये का भाव रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया था. इसके बाद सरकार ने स्टील पर एक्सपोर्ट ड्यूटी (Export Duty On Steel) बढ़ाने का फैसला लिया. इसकी वजह से घरेलू बाजार में स्टील के दाम तेजी से गिरे थे. सरिये के दाम में आयी कमी की मुख्य वजह भी यही है. दूसरी तरफ मानसून के कारण देश के कई हिस्सों में हो रही भारी बारिश के चलते निर्माण गतिविधियों में कमी आने का असर भी डिमांड पर हुआ. उसके बाद सरिये के भाव में काफी तेजी से गिरावट आयी थी, लेकिन अभी फिर से इनकी कीमतें बढ़ने लगी हैं. बीते 2 सप्ताह के दौरान कई शहरों में सरिया 1000 रुपये प्रति टन तक महंगा हुआ है. हालांकि यह अभी भी जुलाई महीने की तुलना में 6000 रुपये प्रति टन तक सस्ता मिल रहा है.

ये भी पढ़ें   इन महिलाओं की चमकी किस्मत! मिलने वाले 2.20 लाख रुपये, जारी किया बड़ा अपडेट