Ration Card लाभार्थियों को नहीं मिलेगा फ्री गेहूं, जानें – सरकार का नया नियम..

Ration-Card-Free Wheat

डेस्क : मोदी सरकार ने देश के गरीब और जरूरतमंद लोगों के लिए कई योजनाएं चलाई हैं. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना भी इन्हीं योजनाओं में से एक है। इस योजना के माध्यम से देश के करोड़ों लोगों को हर महीने मुफ्त अनाज दिया जाता है। राशन कार्ड धारकों के लिए एक बुरी खबर है। राशन कार्ड पर जो गेहूं मिलता था वह अब बंद हो जाएगा। इस संबंध में केंद्र सरकार ने आदेश जारी कर दिया है। इस बार सरकार की ओर से लाभार्थियों को गेहूं की जगह 5 किलो चावल बांटा जाएगा। इस संबंध में खाद्य एवं रसद विभाग के आयुक्त ने भी आदेश जारी कर दिए हैं। सरकार की ओर से एक अपडेट आया है, जो लाभार्थी इस योजना का लाभ ले रहे थे, उन्हें अब राशन में गेहूं नहीं मिलेगा.

गेहूं की जगह चावल मिलेगा : प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 19 से 30 जून तक मुफ्त राशन वितरण का कार्य पूरा किया जाएगा. नए आदेश के मुताबिक इस बार राशन कार्ड धारकों को गेहूं नहीं दिया जाएगा. अब तक लाभार्थी को मुफ्त राशन योजना के तहत 3 किलो गेहूं और 2 किलो चावल दिया जाता था। लेकिन खाद्य एवं रसद विभाग के नए आदेश के अनुसार इस बार लाभार्थी को गेहूं की जगह 5 किलो चावल ही देने का निर्णय लिया गया.

क्यों लिया गया फैसला : बताया जा रहा है कि इस साल राज्य में गेहूं के उत्पादन में कमी आई है. सरकार की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक गेहूं की जगह 55 लाख मीट्रिक टन चावल का अतिरिक्त आवंटन किया गया है. गेहूं की खरीद कम होने के कारण सरकार ने राशन कोटे में गेहूं की मात्रा कम करने का निर्णय लिया है।

ये भी पढ़ें   Gold Price : 7वे आसमान से धड़ाम हुआ - अब 6671 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता मिल रहा Gold...

ओटीपी सत्यापन के साथ राशन मिलाया जा सकता है : आपको बता दें कि केंद्र सरकार इस योजना के जरिए जरूरतमंदों को लाभ पहुंचा रही है। कोई भी राशन कार्ड लाभार्थी पोर्टेबिलिटी चालान के माध्यम से चावल प्राप्त कर सकता है। इसके अलावा आपको बता दें कि 30 जून को उन पात्र व्यक्तियों को मोबाइल ओटीपी सत्यापन के माध्यम से चावल वितरित किया जाएगा जो आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से खाद्यान्न लेने में सक्षम नहीं हैं।