8 February 2023

अब जूमकार में पैसा लगाकर भी कर सकते हैं कमाई, कंपनी करने जा रही है कुछ नया, जानिए डिटेल्स…

zoomcar

डेस्क : कार शेयरिंग प्लेटफॉर्म कंपनी जूमकार जल्द ही शेयर बाजार में दस्तक देने वाली है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, इसके लिए कंपनी ने ब्लैंचेक फर्म इनोवेटिव इंटरनेशनल एक्विजिशन कॉरपोरेशन के साथ मर्जर कर पब्लिक होने का एग्रीमेंट साइन किया है। हालांकि जूम कार ने अभी इस संबंध में आधिकारिक घोषणा नहीं की है। गौरतलब है कि जूम कार एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां लोग अपनी कार को दूसरे लोगों के साथ शेयर कर सकते हैं।

वहीं, जिन्हें कार की जरूरत है, वे घंटे, दिन या महीने के हिसाब से कार किराए पर ले सकते हैं। जूम कार का मुख्यालय बैंगलोर में है और कंपनी का भारत के 50 से अधिक शहरों के साथ-साथ इंडोनेशिया, वियतनाम और मिस्र में कारोबार है। सूत्रों के मुताबिक इस मर्जर से जूम कार और इनोवेटिव इंटरनेशनल की बिजनेस वैल्यू करीब 45.6 करोड़ डॉलर हो जाएगी। लेकिन जूमकार और इनोवेटिव इंटरनेशनल के अधिकारियों ने कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

ज़ूम कार की पृष्ठभूमि : जूमकार की स्थापना 2013 में ग्रेग मोरन और डेविड बेक ने की थी। हालांकि, डेविड बेक ने बाद में कंपनी छोड़ दी। ग्रेग मोरन अभी भी कंपनी के सीईओ के रूप में कार्यरत हैं। जूम कार प्लेटफॉर्म पर 30 लाख एक्टिव यूजर्स हैं और 25 हजार से ज्यादा कारों को शोकेस किया जाता है। इस प्लेटफॉर्म की सबसे बड़ी बात यह है कि यहां इस कंपनी की अपनी कोई गाड़ी नहीं है। सभी वाहन यूजर्स के हैं और सिर्फ सर्विस देने के लिए जूम कार हर ट्रांजैक्शन पर 40 फीसदी चार्ज करती है।

इनोवेटिव इंटरनेशनल ने जुटाए लाखों डॉलर : वहीं, इनोवेटिव इंटरनेशनल ने पिछले साल अपने आईपीओ से 23 करोड़ डॉलर जुटाए थे। जूमकार के चेयरमैन और सीईओ मोहन आनंद की अध्यक्षता वाली कंपनी इनोवेटिव इंटरनेशनल के साथ विलय के बाद, कंपनी का नाम जूमकार होल्डिंग्स इंक होगा। इस कंपनी के शेयरों का भी नैस्डैक में कारोबार होने का अनुमान लगाया जा रहा है।