कर्मचारियों को लगा तगड़ा झटका! अब ‘Work from Home’ खत्म कर रही ये कंपनी, जानिए – डिटेल में..

कर्मचारियों को लगा तगड़ा झटका! अब 'Work from Home' खत्म कर रही ये कंपनी, जानिए - डिटेल में.. 1

डेस्क : टाटा कंसल्टेंसी सर्विस में काम करने वाले कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर है। दरअसल कंपनी द्वारा अब कर्मचारियों के लिए वर्क फ्रॉम होम सुविधा को खत्म करने की बात सामने आई है। खबर है कि आने वाले 15 नवंबर से सभी कर्मचारियों को ऑफिस जॉइन करने के लिए कहा गया है। कंपनी ने अपने कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा कोरोना महामारी के शुरुआती दौर से ही दे दी थी और अब आखिरकार लगभग 3 सालों बाद अपने सभी कर्मचारियों से नवंबर में ऑफिस जॉइन करने को कहा।

नहीं मिलेगी वर्क फ्रॉम होम की सुविधा : अब ऐसी खबरें हैं कि नवंबर महीने के बाद से TCS द्वारा वर्क फ्रॉम होम की सुविधा खत्म हो जायेगी। जिसके बाद कर्मचारी को काम करने के लिए ऑफिस जाना होगा। रिपोर्ट्स के अनुसार, ‘कंपनी अपने कर्मचारियों को वापस कार्यालय बुला रही है क्योंकि 95 प्रतिशत से अधिक कर्मचारियों को आंशिक रूप से टीका लगाया गया है और 70 प्रतिशत से अधिक को पूरी तरह से टीका लगाया जा चुका है। बीते दिनों ही कंपनी ने अपने तिमाही पर हुए बिजनेस में पप्रॉफिट का खुलासा किया है। जिसमें, 5.21 प्रतिशत फायदा होने की बात कही गई थी। इसको अगली तिमाही में और बढ़ाने के साथ वर्तमान में गिरते बाजार को देखते हुए TCS वर्क फ्रॉम होम नीति को खत्म करने की तैयारी कर रही है।

20-25% कर्मचारी ही मौजूद : इस समय बता दें फिलहाल कंपनी के कार्यालयों में कुल 20 से 25 प्रतिशत कर्मचारी ही मौजूद हैं. TCS के CEO और MD Rajesh Gopinathan ने हाल ही में एक बयान में कहा था कि, ‘कंपनी रिटर्न-टू-ऑफिस मॉडल को चलाना जारी रखेगी क्योंकि 25/25 योजना को अधिक नियंत्रित तरीके से निष्पादित करने की जरुरत है।’

ये भी पढ़ें   LIC Plan : मिल रहा है शानदार रिटर्न - 1 लाख के बनाए 15 लाख, जानें - स्कीम के बारे में..

सैलरी में नहीं को कटौती : हालांकि पिछले कुछ समय से TCS के बारे में खबरें थे कि कंपनी सैलरी में कटौती कर रही है। पर इस तरह के सारे खबर खंडन करते हुए कहा कि- “हमने किसी भी कर्मचारी के वेतन में कटौती नहीं की है और 6 लाख से ज्यादा कर्मचारियों के पूरे वेतन का भुगतान करेंगे।” साथ ही बताते चलें कि इंफोसिस (Infosys) और विप्रो (Wipro)ने ऑपरेटिंग मार्जिन के दबाव का बहाना बनाते हुए वेरिएबल पे के कुछ फिसदों की कमी करने की बात कही है। खबरें थी कि विप्रो अपने वहां काम कर रहे फ्रेशर और जूनियर स्तर के कर्मचारियों के वेतम में 30 प्रतिशत तक की कटौती कर सकती है।