December 7, 2022

Aadhar Card धारकों के लिए चेतावनी जारी! फ्रॉड होने पर इन बातों का रखें खास ध्यान…

Aadhar Card

डेस्क : आधार कार्ड जारी करने वाली सरकारी एजेंसी भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने लोगों को आधार से होने वाली धोखाधड़ी से बचने के लिए सावधान रहने की सलाह दी है। आधार कार्ड अब देश भर के सभी निवासियों के लिए सबसे जरूरी दस्तावेज बन गया है। चाहे बैंक में खाता खुलवाना हो या किसी सरकारी योजना का लाभ लेना हो, आधार कार्ड की मांग हर जगह अनिवार्य रूप से की जाती है।

अब आधार कार्ड सिर्फ बड़ों के लिए ही नहीं बल्कि बच्चों के लिए भी बहुत जरूरी दस्तावेज बन गया है। आधार की बढ़ती जरूरत के साथ-साथ इसके जरिए वित्तीय धोखाधड़ी या धोखाधड़ी का खतरा भी दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है। अगर आप कहीं फ्रॉड का शिकार हुए हैं तो आपको यह जानकारी UIDAI के जरिए तुरंत देखनी चाहिए। लेकिन तुरंत उसका पालन करें। इससे आप भविष्य में धोखाधड़ी, वित्तीय नुकसान और धोखाधड़ी के जोखिम से बच जाएंगे। किसी ऐसे व्यक्ति को आधार कार्ड से संबंधित जानकारी न दें जिसे आप नहीं जानते हैं। इससे जुड़ी जानकारी को अपने तक ही सीमित रखा गया है.

आपको बता दें कि यूआईडीएआई ने लोगों को ई-आधार डाउनलोड करने के लिए इंटरनेट कैफे या किसी अन्य सार्वजनिक कंप्यूटर का इस्तेमाल नहीं करने की सलाह दी है। यदि आपके पास ई-आधार डाउनलोड करने के लिए सार्वजनिक कंप्यूटर का उपयोग करने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं है। जिस कंप्यूटर पर आपने आवश्यक कार्य के लिए ई-आधार डाउनलोड किया है, उस फाइल को न छोड़ें और काम पूरा होते ही उसे तुरंत डिलीट कर दें। यहां आपको यह भी ध्यान रखना होगा कि ई-आधार कॉपी को डिलीट करने के बाद उसे रीसायकल बिन से भी डिलीट कर दें ताकि कोई उसका गलत इस्तेमाल न कर सके।

ये भी पढ़ें   जल्दी डबल करना है पैसा तो पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में करें इनवेस्टमेंट, मिलेगा Bank से दोगुना रिटर्न, जानें डिटेल्स

देशभर में धोखाधड़ी के बढ़ते मामलों के चलते आधार कार्ड के इस्तेमाल को लेकर लोगों के मन में कई सवाल उठ रहे हैं. यूआईडीएआई ने कहा कि अगर किसी व्यक्ति को आपके आधार कार्ड का 12 अंकों का नंबर मिल भी जाता है तो वह सिर्फ इस नंबर से आपका बैंक अकाउंट हैक नहीं कर सकता। अगर आप अपने आधार कार्ड को और सुरक्षित बनाना चाहते हैं तो आप मास्क्ड आधार का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। मालूम हो कि नकाबपोश आधार में आपके 12 अंकों के आधार नंबर के पहले 8 अंक छिपे होते हैं और आखिरी 4 अंक ही दिखाई देते हैं।