May 19, 2022

सरसों तेल के दाम सातवें आसमान से धड़ाम! दर्ज की गई भारी गिरावट- फटाफट करें खरीदारी..

mustard oil hike price

डेस्क : देश भर में मौजूदा समय में पेट्रोल-डीजल के साथ-साथ खाने पीने की चीजें भी महंगी होती जा रही है। जिसके चलते आम लोगों के बजट ढीले होते दिख रहा है। वही सरसों तेल की कीमत सातवें आसमान पर हो चुका है। जिसके वजह से खाने का स्वाद काफी फीका पड़ता नजर आ रहा है, लेकिन यदि आप भी सरसों तेल खाने के शौकीन हैं तो यह खबर आपके लिए है।

Mustard Oil Rate Today in Uttar Pradesh Mustard Oil Price Today in UP | Mustard  Oil Rate Today (31st December 2021), Mustard Oil Price Today in Uttar  Pradesh : साल के अंतिम

आपको बता दे की तेल-तिलहन बाजार में सरसों तेल-तिलहन और सोयाबीन तेल कीमतों में गिरावट आई। वहीं, घरेलू मांग होने की वजह से मूंगफली तेल-तिलहन, सोयाबीन तिलहन कीमतों में सुधार आया। बेहद मामूली कारोबार के बीच सोयाबीन और सोयाबीन डीगम तेल सहित बिनौला, सीपीओ और पामोलीन तेल कीमतें पूर्वस्तर पर बनी रहीं। वहीं, संयोगितागंज अनाज मंडी में मसूर के भाव में 150 रुपये प्रति क्विंटल की तेजी तुलना में हुई। चना कांटा 50 रुपये प्रति क्विंटल सस्ता बिका।

Yellow Expeller Jata Shankar Mustard Oil, Packaging Type: Plastic Bottle,  Packaging Size: 1 litre, Rs 150 /bottle | ID: 20994232155

मंडी में थोक भाव इस प्रकार रहे-  (भाव- रुपये प्रति क्विंटल)

  • सरसों तिलहन – 7,600-7,650 (42% कंडीशन का भाव) रुपये।
  • मूंगफली – 6,725 – 6,820 रुपये।
  • मूंगफली तेल मिल डिलिवरी – 15,750 रुपये।
  • मूंगफली साल्वेंट रिफाइंड तेल 2,610 – 2,800 रुपये प्रति टिन।
  • सरसों तेल दादरी- 15,300 रुपये प्रति क्विंटल।
  • सरसों पक्की घानी- 2,415-2,490 रुपये प्रति टिन।
  • सरसों कच्ची घानी- 2,465-2,565 रुपये प्रति टिन।
  • तिल तेल मिल डिलिवरी – 17,000-18,500 रुपये।
  • सोयाबीन तेल मिल डिलिवरी- 16,150 रुपये।
  • सोयाबीन मिल डिलिवरी- 15,850 रुपये।
  • सोयाबीन तेल डीगम,- 14,600।
  • सीपीओ एक्स- 14,100 रुपये।
  • बिनौला मिल डिलिवरी- 15,000 रुपये।
  • पामोलिन आरबीडी – 15,600 रुपये।
  • पामोलिन एक्स – 14,350 रुपये
  • सोयाबीन दाना – 7,650-7,700 रुपये।
  • सोयाबीन लूज 7,350-7,450 रुपये।
  • मक्का खल (सरिस्का) 4,000 रुपये।

बाजार सूत्रों का कहना है कि ऊंचे भाव पर मांग होने से कच्चा पाम तेल (सीपीओ) और पामोलीन के भाव अपरिवर्तित रहे। जबकि, शिकॉगो एक्सचेंज में नरमी और ऊंचे भाव पर लिवाली घटने तथा वार्षिक लेखाबंदी का समय नजदीक होने की वजह से कारोबार बेहद सीमित मात्रा में होने बीच सोयाबीन इंदौर और सोयाबीन डीगम तेल कीमतें पूर्वस्तर पर बनी रहीं। सोयाबीन के भाव में मामूली गिरावट आई। सूत्रों ने कहा कि वार्षिक लेखाबंदी का समय पास आने के साथ कारोबार सीमित होने तथा विदेशी बाजारों में आई गिरावट के दबाव में सरसों तेल-तिलहन के भाव भी नुकसान के साथ बंद हुए