December 6, 2022

सस्ता हो सकता है खाने वाला तेल, मार्केट से मिले ये संकेत, जानिए

Sarso Tel

डेस्क : इन दिनों महंगाई चरम सीमा पर है। पर इसी महंगाई से परेशान जनता के लिए राहत की खबर भी सामने आई है। मार्केट रिपोर्ट्स के अनुसार आने वाले दिनों में खाद्य तेल के कीमत में कटौती की जा सकती है। वैश्विक बाजार में खाने के तेल में भारी गिरावट देखी गई हैं इसीलिए भारत में भी खाद्य तेल के दाम कम होने के आसार हैं। बता दें अब तक भारतीय ग्राहकों को उतना फायदा नसीब नहीं हुआ है। हालांकि भारतीय मार्केट में पॉम आयल में भारी गिरावट आ चुकी है जिसकी वजह से सभी प्रकार के खाद्य तेल में गिरावट देखने को मिल रही है।

ग्राहकों को नहीं मिला फायदा बता दें अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेलों की कीमतों में भारी गिरावट देखी गई है। पर जिस तरह से दाम नीचे गिरे हैं ग्राहकों को इसका लाभ नहीं पहुंचा। खुदरा बाजार में अधिकतम खुदरा मूल्य (MRP) जरुरत से कहीं ज्यादा रखा गया है। जिस कारण खुदरा कारोबारी एमआरपी के बहाने ग्राहकों से अधिक कीमत वसूल रहे हैं। विदेशों में जिस मात्रा में दाम कम हुए हैं, अगर उतनी ही कीमत भारत में भी कम कर दी जाए तो, तेल के दाम में अभी भी भारी गिरावट देखी जायेगी।

भारतीय किसानों के सामने आ सकती है समस्या इस समय मार्केट में पाम ऑयल के दाम इतने कम हो गए हैं कि इसके सामने सारे खाद्य तेल महंगे हैं। जिस बारे में बाजार विश्‍लेषकों ने चेताया है कि ‘यदि पॉम आयल इसी तरह सस्‍ता बना रहा तो सोयाबीन, मूंगफली और बिनौला की फसल को लेकर दिक्‍कत आ सकती है। क्‍योंकि मार्केट में अगर पॉम आयल सस्‍ता रहा तो दूसरे तेल के दाम उससे प्रभावित रहेंगे जिससे किसानों को समस्‍या हो सकती है।’ जिसके बाद कयास ऐसे भी लगाए जा रहे हैं कि सरकार किसानों के हित में फैसला ले सकती है।

ये भी पढ़ें   बड़े काम की है ये मामूली सिक्का - बेचने पर खुल जाएंगे किस्मत!

आपको बता दें सरकार द्वारा ये लक्ष्य पर काम किया जा रहा है कि त्योहारों के दौरान तेल की कीमत न बढ़े। इस लक्ष्य तक पहुंचने के लिए सरकार कई तरीके से काम कर रही है। आपको बता दें इम्पोर्ट ड्यूटी कम करने के अलावा सरकार, बाजार में पर्याप्त स्टॉक पर भी पैनी नजर बनाई हुई है। साथ ही गेहूं के इम्पोर्ट पर ड्यूटी घटाने या हटाने को लेकर भी सरकार विचार कर रही है। खाद्य तेल में आगे और कटौती की संभावना जताई जा रही है।