गाड़ी चालक ध्यान दें! भूलकर भी न करें ये गलती, नहीं तो आपके Account से कटता रहेगा पैसा

fastag field

डेस्क : अब FASTag को पूरे भारत में अनिवार्य कर दिया गया है। बहुत से लोगों को इस समस्या का सामना करना पड़ रहा है कि वे अपने फास्टैग का उपयोग नहीं कर रहे हैं फिर भी उनके पैसे काटे जा रहे हैं। आखिर ऐसा कैसे हो सकता है कि कोई व्यक्ति FASTag या कार का इस्तेमाल नहीं करता और फिर भी उसका पैसा कट जाता है? तो यह संभव है। जी हां.. आइए आपको फास्टैग से जुड़ी कई बातें बताते हैं, जिससे आपका पैसा कटने से बच जाएगा।

ग्राहक अक्सर यह गलती करते हैं : जब भी आप FASTag को सक्रिय करते हैं और आप अपने वॉलेट या बैंक खाते को इसके साथ लिंक करते हैं, तो टोल टैक्स शुल्क का स्वतः पता चल जाता है। ऐसे में अगर हम कार बेचते हैं या खरीदते हैं तो कई बार पुराने फास्टैग को नहीं हटाते हैं. वहीं अगर कोई दूसरा व्यक्ति इसका इस्तेमाल करता है तो FASTag से आपके अकाउंट से पैसे कटने लगते हैं. जानकारी के अभाव में कई लोग ऐसी गलती कर बैठते हैं। लोग अपनी कार बेचते हैं और उसमें लगे फास्टैग को निष्क्रिय करना भूल जाते हैं।

ऐसा करना कभी न भूलें : अक्सर लोगों को बाद में पता चलता है कि उनके पास FASTag में सीरियल नंबर दर्ज होना चाहिए अन्यथा वे FASTag को निष्क्रिय नहीं कर पाएंगे। जब भी आप अपनी कार खरीदते या बेचते हैं तो आपको कार के FASTag का सीरियल नंबर जरूर याद रखना चाहिए। साथ ही इसका रिकॉर्ड रखना भी बेहद जरूरी है। यहां तक ​​कि अगर आपने अपनी कार बेच दी है और आपने FASTag को सक्रिय नहीं किया है, तो भी आपका पैसा काटा जा सकता है। कई पेटीएम और अन्य बैंकों द्वारा भी अब FASTag की सुविधा दी जा रही है, जिससे आप इसे आसानी से भी active या Inactive कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें   Sahara India उपभोक्ताओं के लिए खुशखबरी! अब ब्याज समेत वापस मिलेगा आपका पैसा, जानें - कैसे?

निष्क्रिय करने का आसान तरीका : जब भी आप कार बेच रहे हों या बदले में दे रहे हों, तो सबसे अच्छा है कि आप FASTag को हटा दें। यदि आप अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर से FASTag को निष्क्रिय नहीं कर पा रहे हैं, तो आप टूल फ्री नंबर 1800-120-4210 पर कॉल करके इसे निष्क्रिय करवा सकते हैं। आप उस जगह से भी कॉल कर सकते हैं जहां से आपने FASTag लिया या सक्रिय किया था। इसके बाद आपको मोबाइल पर इसका लिंक मिल जाएगा, जहां वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर, FASTag का सीरियल नंबर पूछा जाएगा। इसके बाद आपको यहां सारी जानकारी भरनी होगी, जिसके बाद आपका फास्टैग डिएक्टिवेट हो जाएगा।