9 February 2023

बेटियों के लिए खुशखबरी : सरकार तरफ से मिलेंगे 1 लाख 43 हजार रुपये, तुरंत करें अप्‍लाई..

best scheme for daughters

Desk : नव भारत के निर्माण में महिलाओं का सहयोग होना बेहद महत्वपूर्ण है. ऐसे में सरकार आपकी बेटी की पढ़ाई के लिए कई तरह की योजनाएं भी सुचारू रूप से चलाती हैं. इसी तरह इस योजना के तहत आपकी बेटी को एक लाख रुपये से भी ज्‍यादा की राशि सरकार की ओर से दिया जाएगा.

यह राशि डायरेक्‍ट आपकी बेटी के बैंक खाते में जमा की जाएगी. आपको बता दें ये राशि 5 किश्‍तों में खाते में जमा किया जाएगा. अगर आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको कुछ दस्‍तावेज सरकारी कार्यालय में जमा कराने होंगे, तो चलिए बिना देरी के इस योजना के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं।

इस योजना के बारे में जान लीजिए डिटेल

सरकार इस योजना के तहत आपकी बालिका के नाम पर 5 वर्ष तक 6-6 हजार रुपये जमा करती है. इस तरह उस कोष में आपकी बेटी के नाम पर कुल 30 हजार रुपये तक जमा हो जाते है. इसके बाद आपकी बेटी को इस योजना से पैसा मिलना भी शुरू हो जाता है. इस येाजना के तहत पहली इंस्‍टॉलमेंट में कक्षा 6टी में प्रवेश लेने पर मिलती है.

इस समय आपकी बेटी के बैंक खाते में 2,000 रुपये जमा किए जाते है. इसी तरह कक्षा 9 वीं में प्रवेश लेने पर आपकी बेटी को 4,000 रुपये ट्रांसफर भी किए जाते हैं. इसके बाद कक्षा 11 वीं में प्रवेश लेने पर 6,000 रुपये भी दिए जाते हैं और आखिरी किश्‍त कक्षा 12वीं में दी जाती है जो 6,000 रुपये तक की होती है.

इसके बाद आपकी बालिका जब 21 वर्ष की हो जाती है, तब उन्‍हें 1 लाख रुपये भी दिए जाते हैं. हालांकि सरकार ने कुछ महीने पहले ही इस योजना में राशि को बढ़ा दिया है, इस तरह आपको आखिरी इंस्टॉलमेंट भी कुछ बढ़ा कर दी जाएगी.

कहाँ करें योजना के लिए अप्‍लाई

आपको आपकी बेटी के सभी जरूरी दस्तावेज आंगनवाडी कार्यकर्ता को जमा करने होंगे. आप लोक सेवा केन्द्र, परियोजना कार्यालय या किसी इंटरनेट कैफे पर भी अपना आवेदन कर सकते हैं. यहां से आवेदन करने के बाद परियोजना कार्यालय आपके आवेदन को भी स्वीकृत करेगा.

अगर आप पूरे डॉक्यूमेंट जमा नहीं करेंगे तो आवेदन अस्वीकृत भी हो सकता है. एप्लीकेशन एक्‍सेप्‍ट होने के बाद आपकी बेटी के नाम से 1 लाख 43 हजार रुपये का प्रमाण पत्र भी जारी किया जाएगा. यहां आपको यह ध्‍यान रखना चाहिए पहले इस योजना के तहत 1 लाख 18 हजार रुपये का प्रमाण पत्र भी मिलता था, लेकिन अब इस स्‍कीम में धनराशि बढ़ गई है.