4 February 2023

अब ऑटो में सफर करना होगा और महंगा, इन शहरों में बढ़ेगा Auto Fare

Auto fare

डेस्क: इस समय हर कुछ के दाम बढ़ रहा है। इसी क्रम में सीएनजी (CNG) के दामों में वृद्धि को देखते हुए दिल्ली सरकार द्वारा ऑटो रिक्शा और टैक्सी (Auto-rickshaw and Taxi) के किराये(Auto Fare) में वृद्धि के प्रस्ताव को स्वीकार कर दिया है। संशोधित किराया ढांचे के मुताबिक, ऑटो-रिक्शा के लिए शुरुआती 1.5 किलोमीटर दूरी के लिए न्यूनतम किराया (मीटर डाउन चार्ज) को 5 रूपए बढ़ा दिया गया है।

अब 25 रुपये से बढ़ाकर न्यूनतम किराया 30 रुपये कर दिया गया है। इस सीमा के बाद हरेक किलोमीटर पर किराये को 9.50 रुपये से बढ़ाकर 11 रुपये कर दिया गया है। बगैर AC वाले टैक्सियों के लिए अब कम से कम 17 रुपयों का भुगतान प्रति किमी यात्रियों को देना होगा। इसके पहले ये शुल्क 14 रूपए का होता है। एसी टैक्सियों के लिए लोगों को न्यूनतम किराये(Auto Fare) के बाद 20 रुपये प्रति किलोमीटर के हिसाब से भुगतान करना पड़ेगा। वहीं, पहले ये किराया 16 रुपये प्रति किलोमीटर था।

वेटिंग और नाइट चार्ज : पहले ऑटो के लिए नाइट चार्ज 25% था जो की अभी भी वही है। बता दें नाइट चार्ज 11 बजे के बाद सुबह के 5 बजे तक लगता है। इसके अलावा टैक्सी का वेटिंग चार्ज पर मिनट 0.75 रुपये था जो अभी भी वही है। साथ ही एक्स्ट्रा सामान का चार्ज बढ़ गया है। जो पहले 7.5 रूपए था अब वो 10 रूपए हो गया है।

2020 में हुआ था बदलाव : बताते चले ऑटो-रिक्शा के भाड़े(Auto Fare) में ऐसा परिवर्तन साल 2020 में हो गया था। काली और पीली टैक्सी, इकोनॉमी टैक्सी और प्रीमियम टैक्सी के किराये में संशोधन नौ साल पहले साल 2013 में किया गया था। दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत को वाहन किराये में बढ़ोतरी के मुद्दे पर ऑटो-रिक्शा और टैक्सी संघों और यूनियनों से कई आवेदन मिले थे। इसके बाद किराये में वृद्धि को मंजूरी दी मिली।