May 27, 2022

खुशखबरी : अरहर और उड़द दाल के दाम सातवें आसमान से धड़ाम! जानें – दाल की नई कीमत…

urad and arhar price hike

डेस्क : देश में लगातार बढ़ रही महंगाई ने आम लोगों की कमर तोड़ दी है। हर बीते दिन पेट्रोल डीजल के दामों से लेकर खाद्य पदार्थ के दामों में बढ़ोतरी जारी है। इसी बीच आम लोगों के लिए एक मौज वाली खबरें सामने आई है। आपको बता दें कि दाल के दामों में जबरदस्त गिरावट दर्ज की गई है।

आपूर्ति को बढ़ाने और दामों को नियंत्रण में लाने के लिए केंद्र सरकार ने मार्च 2023 तक अरहर दाल और उड़द दाल के आयात को ‘मुक्त श्रेणी’ में रखने का फैसला किया है। ‘मुक्त श्रेणी’ में डाले जाने का मतलब है कि इन दालों के आयात पर कोई पाबंदी नहीं होगी। सरकार की ओर से जारी बयान के मुताबिक, घरेलू उपलब्धता बढ़ाने और आवश्यक खाद्य वस्तुओं की दामों को नियंत्रण में रखने के बेहतरीन कदम के तहत केंद्र ने 31 मार्च, 2023 तक अरहर और उड़द के आयात को ‘मुक्त श्रेणी’ के तहत रखने के निर्णय को अधिसूचित किया।

सरकार के अनुसार, इस नीतिगत उपाय को संबधित विभागों और संगठनों द्वारा सुविधाजनक उपायों और इसके कार्यान्वयन की बारीकी से निगरानी के साथ सहयोग दिया गया है। आपको बता दे की इस फैसले ने अगले वित्त वर्ष में तुअर और उड़द के लिए आयात नीति व्यवस्था से जुड़ी अटकलों पर विराम लगा दिया है। यह नीति एक स्थिर व्यवस्था का भी संकेत देती है। इस नीति से सभी अंशधारकों को फायदा पहुंचने की उम्मीद है।

सरकार का कहना है कि इस उपाय से देश में दालों की उपलब्धता बढ़ाने के लिए इनका निर्बाध आयात सुनिश्चित किया जा सकेगा। गौरतलब है, कि इन दालों की उपलब्धता में बढ़ोतरी से इनके दाम घटेंगे और इसका सीधा फायदा उपभोक्ताओं को पहुंचेगा। उपभोक्ता मामलों के विभाग के अनुसार, 28 मार्च को 1Kg अरहर दाल का अखिल भारतीय औसत खुदरा मूल्य 102.99 रुपये था, जो पिछले साल के 105.46 रुपए प्रति किलो से 2.4 फीसदी कम है। वहीं, 1 Kg उड़द दाल का अखिल भारतीय औसत खुदरा मूल्य 28 मार्च को 104.3 रुपये प्रति किलो थी। जो पिछले साल की इसकी कीमत 108.22 Kg से 3.62 फीसदी कम है।