औंधे मुंह गिरे उड़द दाल के दाम – नया रेट जान खुशी से झूम उठेंगे आप..

Urad Dal

डेस्क : दलहन की कीमतों में भारी गिरावट आई है। तुवर और उड़द में 100 रुपये की गिरावट के साथ 200 रुपये प्रति क्विंटल, जबकि दाल में 50 रुपये प्रति क्विंटल की गिरावट आई। कारोबारियों का कहना है कि कम बिक्री की वजह से मिलें अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए दालें खरीद रही हैं। जबकि, सरकार की रणनीति के चलते दाल मिल मालिक ऊंची कीमतों पर दाल खरीदने से घबरा रहे हैं।

आयातित चना तंजानिया 4700, काबुली सूडान 5850 से 6000, लेंटिल कनाडा 6850, मसूर ऑस्ट्रेलिया 6900, तुवर लेमन 7400, तुवर अफ्रीका 7700, तुवर अरुशा 6050 और उड़द एफएक्यू 7600 रुपये की वृद्धि हुई। दाल- चना 5025 से 5075, विशाल 4700 से 4950, डंकी चना 4400 से 4600, दाल 6800, तुवर सफेद नाई 7500 से 7600, कर्नाटक 7600 से 7800, निमाड़ी 6600 से 7100, मूंगफली 6500 से 6600, औसत 0, 8000 घ 6300 से 6800, ग्रीष्म उड़द 7000 से 7600 क्विंटल।

दाल- चना दाल 6200 से 6300, मध्यम 6400 से 6500, बोल्ड 6600 से 6700, दाल दाल मध्यम 7900 से 8000, बोल्ड 8100 से 8200, टॉवर दाल सावा नंबर 9500 से 9600, फूल 9700 से 9800, बेस्ट टॉवर दाल बेस्ट 990, न्यू 10400 से 11100, मूंग दाल मीडियम 8700 से 8800, बोल्ड 8900 से 9000, मूंग मोगर 9000 से 9100, बोल्ड 9200 से 9300, उड़द दाल मीडियम 9200 से 9300, बोल्ड 9400 से 9500, उड़द100003,000 रु.

इंदौर चावल की कीमत : दयालदास अजीत कुमार के अनुसार छावनी बासमती (921) 10000 से 11000, तिबार 8000 से 8500, डबर 7000 से 7500, मिनी डबर 6500 से 7000, बासमती सेला 6500 से 9000, मोगरा 3500 से 6000, दुबराज 3500 से 7000 राजभोग, काली परमल 2,500 रुपये से 2,650 रुपये, हंसा सेला 2,450 रुपये से 2,650 रुपये, हंसा व्हाइट 2,350 रुपये से 2,450 रुपये और पोहा 3,700 रुपये से 4,100 रुपये प्रति क्विंटल पर बिका।

ये भी पढ़ें   अचानक सस्ता हुआ LPG Cylinder - अब महज 753 रुपए अपने घर ले जाएं सिलेंडर, जानें - पुरी जानकारी..

उपभोक्ताओं को राहत, सोयाबीन तेल के दाम घटे : भारत का सोयाबीन आयात एक महीने पहले जुलाई में 113 प्रतिशत बढ़कर रिकॉर्ड 493,000 टन हो गया, वैश्विक व्यापारिक फर्मों के पांच डीलरों के औसत अनुमान के प्रतिशत से अधिक है। भारत का सोया तेल आयात एक महीने पहले दोगुने से अधिक रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया क्योंकि रिफाइनर ने सब्जी के शुल्क-मुक्त आयात की अनुमति देने के लिए नई दिल्ली के कदम का लाभ उठाने के लिए खरीदारी तेज कर दी थी।

आयात में वृद्धि और सरकार की सख्ती ने सोया तेल को कम कर दिया है। खेरची बाजार में सोया तेल 150 रुपये से 155 रुपये प्रति लीटर हो गया है जो पहले 170 रुपये से 175 रुपये हो गया था। सूत्रों ने कहा कि भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSI) ने दो सप्ताह की राष्ट्रव्यापी जांच शुरू कर दी है। तेल में मिलावट, मिश्रित तेलों की लेबलिंग, सब्जियों में ट्रांस वसा की जांच, खुले तेल की बिक्री पर रोक लगाई जाएगी। सरकार की सख्ती से तेल की कीमतों में तेजी की उम्मीद नहीं है। सरकार की रणनीति के चलते प्लांट सिर्फ जरूरतों को पूरा करने के लिए सोयाबीन ही खरीद पा रहा है।

तिलहन के थोक भाव : लूज ऑयल (प्रति दस किलो): इंदौर मूंगफली तेल 1640 से 1650, मुंबई मूंगफली तेल 1630, इंदौर सोयाबीन रिफाइंड 1225 से 1230, इंदौर सोयाबीन सॉल्वेंट 1195 से 1200, मुंबई सोया रिफाइंड 1270, मुंबई पाम ऑयल 1270, इंदौर, राजकोट पाम ऑयल 2550 , गुजरात लूज 1600, कॉटन ऑयल इंदौर 1435 रु.

तिलहन: सरसों 5800 से 6000 क्विंटल, रैदा 5700 से 5900 क्विंटल, टोली 4100 से 4150 क्विंटल, सोयाबीन 5700 से 6120 क्विंटल। सोयाबीन डीओसी 50400 से 51800 टन स्पॉट करता है। सोयाबीन के भाव- बैतूल 6350, लक्ष्मी 6350, कास्टा 6200, खंडवा ऑयल 6250, रुचि 6250, धानुका 6375, एमएस नीचम 6250, पचोर 6250, प्रकाश 6325 और एवी कॉटन खाली (60 किलो भारती) बिना टैक्स रेट के – इंदौर 2200, देवास 2200, उज्जैन 2200, खंडवा 2175, बुरहानपुर 2175, अकोला