आखिर व्यक्ति के मृत्‍यु के बाद Aadhar Card का क्या होता है? जान लीजिए वरना झोल में पड़ जाएंगे..

adhar card

डेस्क : Aadhar Card को जरूरी दस्‍तावेज माना जाता है. आप सरकारी या प्राइवेट किसी भी काम को कराने जाते हैं, तोAaddhar Card की जरूरत जरूर पड़ती है. यही वजह है कि आज के समय में हर किसी के पास Aaddhar Card जरूर होता है. इसमें Aaddhar Card धारक की बायोमेट्रिक और डेमोग्राफिक जानकारी होने की वजह से इसे संभालकर रखना जरूरी है क्‍योंकि इसका गलत इस्‍तेमाल भी हो सकता है. लेकिन अगर किसी व्‍यक्ति की किन्‍हीं कारणों से मुत्यु हो जाए, उसके बाद Aaddhar Card का क्‍या होता है, इस बारे में क्‍या कभी आपने सोचा है? आइए आपको बताते हैं इस बारे में.

Aaddhar Card को रद्द करने की नहीं है कोई व्‍यवस्‍था : Aaddhar Card को लेकर सबसे बड़ी दिक्‍कत ये है कि किसी की मौत के बाद भी इसे रद्द नहीं कराया जा सकता क्‍योंकि ऐसी कोई व्‍यवस्‍था ही नहीं है. ऐसे में परिवार के सदस्‍यों की ये जिम्‍मेदारी है कि वे उसके Aaddhar Card को बहुत संभालकर रखें, ताकि वो किसी गलत हाथों में न पड़े और उसका दुरुपयोग न हो सके. इसके अलावा अगर उस सदस्‍य के नाम पर कोई सब्सिडी भी मिल रही है या किसी योजना का लाभ लिया जा रहा है, तो संबन्धित विभाग को उसकी मौत की जानकारी देनी ही चाहिए, ताकि उसका नाम वहां से समय से हटाया जा सके.

दुरुपयोग रोकने के लिए आधार कार्ड करें लॉक : आप बेशक आधार कार्ड को रद्द नहीं करवा सकते, लेकिन आपके पास इसे लॉक करने का विकल्‍प हमेशा मौजूद रहता है. UIDAI की वेबसाइट पर जाकर आप अपने आधार कार्ड को लॉक कर सकते हैं. इससे भी आप आधार कार्ड के दुरुपयोग को काफी हद तक रोक सकते

ये भी पढ़ें   पिता के मृत्यु के बाद अपने भाई में संपत्ति का बंटवारा कैसे होता है? जानिए - क्या हैं नियम..

Aaddhar Card को लॉक करने का तरीका

  • इसके लिए सबसे पहले आपको UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर जाना होगा. इसके बाद MY Addhar के ऑप्‍शन पर क्लिक करें.
  • MY Addhar में आधार सर्विसेज पर जाएं, वहां आपको ‘लॉक या अनलॉक’Aaddhar Card वाला ऑप्शन नजर आएगा.
  • अब आपको मृत व्यक्ति के Aaddhar Card का नंबर, पूरा नाम और पिन कोड यहां दर्ज करना है. इसके बाद उस आधार कार्ड से लिंक्‍ड मोबाइल पर एक OTP आएगा.
  • ये OTP डालते ही आधार कार्ड लॉक हो जाएगा. वहीं इसे अनलॉक करने के लिए वर्चुअल आईडी और सिक्योरिटी कोड डालने की भी जरूरत होगी. OTP डालने के बाद ही यह अनलॉक हो जाएगा.