May 19, 2022

Post Office डबल पैसा स्कीम! महज ₹100 रुपए को बना सकते हैं पूरे 16 लाख रुपए.. जानिए पूरा प्रोसेस –

डेस्क : बेहतर भविष्य के लिए टिप एंड टॉप प्लानिंग अगर आप कम निवेश के साथ इन्वेस्टमेंट की प्लानिंग कर रहे हैं, तो हम आपके लिए एक अच्छा विकल्प लेकर आए हैं। आप भविष्य की योजना के लिए डाकघर सावधि जमा / सावधि जमा योजना का विकल्प चुन सकते हैं। इस योजना में पैसा लगाने से आपको कभी कोई नुकसान नहीं होगा, क्योंकि यहां आपका पैसा सुरक्षित है।

वहीं, इसमें निवेश करना बेहद आसान विकल्प है। आपको बता दें कि FD/TD की सुविधा सिर्फ बैंक में ही नहीं है, आप पोस्ट ऑफिस में इसका लुत्फ उठा सकते हैं। अंतर यह है कि डाकघर में निवेश किया गया आपका पैसा हमेशा सुरक्षित रहता है और साथ ही गारंटीड रिटर्न भी मिलता है। पोस्ट ऑफिस में आप 1 से 5 साल का फिक्स डिपॉजिट खोल सकते हैं। यह एक छोटी बचत योजना है। बैंक ने जनवरी से मार्च 2022 तिमाही तक अपनी ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। इसका मतलब है कि अक्टूबर-दिसंबर 2021 तिमाही में जो ब्याज मिलता था, वह अब मिलता रहेगा।

1 लाख रुपये का निवेश मिलेगा 139407 रुपये : पोस्ट ऑफिस टर्म डिपॉजिट में आपको 5 साल के लिए 6.7 फीसदी सालाना मिलता है। यानी अगर कोई व्यक्ति 5 साल की मैच्योरिटी वाले टर्म डिपॉजिट में 1 लाख रुपये जमा कर खाता खोलता है तो उसे 5 साल बाद टीडी की दर के हिसाब से 139407 रुपये मिलेंगे. वहीं, एक साल, दो साल और तीन साल की सावधि जमा पर ब्याज दर 5.5% प्रतिवर्ष है।

कौन खोल सकता है खाता : इस डाकघर योजना में कोई भी भारतीय एकल या संयुक्त खाता खोल सकता है। वहीं, जिनकी उम्र 10 साल से ज्यादा है या वे मानसिक रूप से कमजोर हैं, वे भी इसमें खाता खुलवा सकते हैं. खाता खोलने के लिए आप इसमें 1000 रुपये से शुरू होकर कोई भी राशि डाल सकते हैं। इसके अलावा, पोस्ट ऑफिस टीडी में 5 साल के लिए निवेश आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत कर मुक्त है। आप 6 महीने पूरे होने के बाद इस प्लान को बंद कर सकते हैं। वहीं अगर आप खाते के 12 महीने पूरे होने के 6 महीने बाद टीडी बंद करते हैं तो पोस्ट ऑफिस सेविंग स्कीम की ब्याज दर सावधि जमा नहीं लागू होगी.

डाकघर टीडी में क्या सुविधाएं उपलब्ध हैं?

  • इस पर आपको नॉमिनेशन सर्विस मिलेगी
  • पोस्ट ऑफिस से दूसरे में अकाउंट ट्रांसफर करने की सुविधा
  • डाकघर एक, टीडी खाता एकाधिक
  • एकल खाते को संयुक्त या संयुक्त खाते को एकल में बदलने की सुविधा
  • खाता विस्तार सुविधा
  • इंट्रा-ऑपरेबल नेटबैंकिंग/मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से ऑनलाइन खाता खोलने की सुविधा