शाहरुख़ खान के बॉडीगार्ड की तनख्वाह जानकार दंग रह जाएंगे आप – हर मोड़ पर खड़े रहते हैं पूरे परिवार के साथ

Shahrukh khan Bodyguard

डेस्क : हर तरफ शाहरुख खान की चर्चा हो रही है। ऐसे में शाहरुख खान के घर गाड़ी-बंगले नौकर और हर निजी चीज जनता के आगे सामने आ गई है। ऐसे में शाहरुख खान के बॉडीगार्ड की तनख्वाह भी अब जनता के बीच आ गई है। ज्यादा जानकारी के लिए बता दें कि जितने भी बॉलीवुड स्टार्स होते हैं, उनके जो बॉडीगार्ड होते हैं उनकी तनख्वाह करोड़ों रुपए होती है।

Shah Rukh Khan Bodyguard Ravi Singh Annual Salary | Bodyguard Salary:  बॉलीवुड में Shah Rukh Khan के बॉडीगार्ड की है सबसे ज्यादा सैलरी, किंग खान  रवि सिंह को देते हैं इतने करोड़

ऐसे में वह लोग उनको अपनी जान से ज्यादा प्रोटेक्शन देते हैं। आज हम आपको शाहरुख खान के बॉडीगार्ड रवि सिंह की तनख्वाह के बारे में बताने वाले हैं। रवि सिंह, शाहरुख खान को 10 साल से प्रोटेक्शन दे रहे हैं। इतना ही नहीं बल्कि जहां कहीं भी जाना होता है, वहां पर रवि सिंह, शाहरुख खान की पूरी व्यवस्था का इंतजाम कर देते हैं। ऐसे में वह 2.5 करोड़ रुपए सालाना शाहरुख खान से लेते हैं।

Bollywood Celebrity Bodyguard Salary | The Huge Salary Of These Bollywood  Celebrity Bodyguards Will Leave You In Awe - TittlePress

सिर्फ शाहरुख खान ही नहीं बल्कि उनके पूरे परिवार में से कोई भी व्यक्ति यदि कहीं एयरपोर्ट या बस स्टैंड या फिर कहीं घूमने जाता है तो उसकी जानकारी रवि सिंह को पहले से ही रहती है। रवि सिंह शाहरुख खान के पूरे परिवार पर किसी भी प्रकार की आंच आने नहीं देते हैं।

shahrukh khan bodyguard ravi singh salary: बॉलिवुड के सबसे महंगे बॉडीगार्ड  हैं रवि सिंह, शाहरुख खान की सिक्यॉरिटी के लिए लेते हैं इतनी सैलरी -  Navbharat Times

साल 2014 में रवि सिंह विवादों में आ गए थे, बता दें कि शाहरुख खान के ऊपर उस वक्त बहुत बड़ी भीड़ टूट पड़ी थी, जिसको हटाने के लिए रवि ने पूरा प्रयास किया, जिस दौरान 1 लड़की पर उनका हाथ लग गया। उस वक्त बवाल काफी ज्यादा हुआ था। यदि आज के समय की बात करें तो शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की वजह से पूरे मन्नत बंगले में मातम पसरा हुआ है क्योंकि उनका बेटा ड्रग्स के मामले में जेल में बंद है। ऐसे में अब कब सुनवाई होगी और कब आर्यन खान जेल से बाहर आएंगे इसका सबको इंतजार है।

You may have missed

You cannot copy content of this page