शाहरुख खान का ‘आदर्श बेटा’ बन पाएंगे आर्यन खान? जेल में पढ़ी हैं मर्यादा पुरषोत्तम श्री राम और माता सीता की पुस्तकें

Aryan Khan

बॉलीवुड के किंग खान शाहरुख खान के बेटे आर्यन 28 दिन जेल में रहने के बाद बीते शनिवार को जमानत पर रिहा हो गए हैं। आर्यन खान के रिहाई से शाहरुख समेत पूरे परिवार खुश हैं। लेकिन अब सब की नजर आर्यन खान पर टिकी है। साथ ही उनके सामने भी कई सारी चुनोतियां खड़ी हो गई है।

आर्यन के सामने यह बड़ी चुनौतियां पहली चुनौती उनके सामने ये है कि वे बिना न्यायालय के आदेश के विदेश नहीं जा सकते हैं, साथ ही दूसरी बड़ी चुनौती गरीबों की सेवा में अपने आपको लगाना, तीसरी चुनौती कुछ खास है इसलिए कि उन्हें अपने दोस्तों से दूर रहना होगा, जिनके साथ वे जेल गए। अब अंतिम में सबसे मत्वपूर्ण चुनौती एक ‘प्रसिद्ध इंसान’ का ‘आदर्श बेटा’ बनकर दुनिया को दिखाना है।

जेल में किताब पढ़ने का जगा शौक एक ‘प्रसिद्ध अभिनेता’ का ‘आदर्श बेटा’ बनकर दिखाना आर्यन के लिए इसलिए भी जरूरी है, कि जेल में उन्होंने 22 दिनों के दौरान एक मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम और माता सीता की पुस्तक पढ़ी है। पिछले आठ दिनों से मीडिया में इस बात की काफी चर्चा है कि शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान जेल में रहने के दौरान भगवान राम और माता सीता पर आधारित कहानियों की किताब पढ़ रहे हैं। इसके अलावा भी उन्होंने कई ओर किताब पढ़ी। अब एक कहावत है कि ‘कथनी और करनी में अंतर है’ अर्थात पुस्तक को पढ़ तो लिया लेकिन उनमें लिखी बातें अपने जीवन में कितना उत्तर पाते हैं यह देखने वाली बात होगी।

कैदियों से मिलकर कर प्राप्त की गरीबों की जानकारी सूत्रों की माने तो इस बात की भी चर्चा जोरों पर है कि जेल में रहने के समय आर्यन ने दूसरे कैदियों से मिलकर उनके जीवन और दिनचर्या को समझा और गरीबों से जुड़े जानकारी हासिल की। यह सब देखते लोगों के मन में कई तरह के सवाल उत्पन्न हो रहे हैं कि जेल से बाहर आने के उपरांत अब क्या आर्यन खान अपने पिता और लोकप्रिय अभिनेता शाहरुख के इज्जत बचा सकतें है।

You cannot copy content of this page