बेटे आर्यन को बचाने के लिए शाहरुख खान ने झोंक दिया मोटा पैसा और इस्तेमाल किया रूतबा – अब अंतिम कोशिश भी रही असफल

Aryan Khan (2)

डेस्क : 2 अक्टूबर की शाम को आर्यन खान ड्रग्स पार्टी करने के लिए क्रूज शिप पर पहुंचे थे। जैसे ही शाम हुई तो क्रूजशिप पर पार्टी का माहौल बनने लगा और सभी लोग धीरे-धीरे पार्टी के माहौल में घुलते चले गए। किसी को यह नहीं पता था कि ड्रग्स पार्टी में एनसीबी के अधिकारी भी आए हुए हैं। एनसीबी के अधिकारी कुछ इस प्रकार से कपड़े पहन कर आए थे कि किसी को भी शक नहीं हुआ। जैसे ही क्रूज शिप ने पोर्ट छोड़ा तो आधे रास्ते में एनसीबी के अधिकारियों ने अपना आईडी कार्ड दिखाया और सभी को सतर्क कर दिया।

इसके बाद उन्होंने सबकी तलाशी शुरू कर दी। जब तलाशी ली गई तो अनेकों लोगों के पास ड्रग्स मिला, जिसमें से एक शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान थे। 2 अक्टूबर से लेकर आज तक वह एनसीबी की गिरफ्त में हैं। फिलहाल उनको जेल हो गई है और वह आने वाले दिन भी जेल में बिताएंगे। इतना ही नहीं यह मामला एनडीपीएस कोर्ट में चला, लेकिन शाहरुख खान अपने बेटे आर्यन खान को जेल की सलाखों से बचा नहीं पाए। इसी बीच बता दें कि आर्यन खान को बचाने के लिए शाहरुख खान ने मोटा पैसा झोंक दिया है।

Gauri Khan Bday

लंबे समय से लोग कह रहे थे कि आर्यन खान को बेल मिलने में कोई परेशानी नहीं होगी क्योंकि वह पावरफुल पिता का बेटा है और उनके पास काफी पैसा है, लेकिन आपको बता दें कि इस वक्त आर्यन खान को बेल नहीं मिली है। वह जिस मामले में अंदर गए हैं, वह कोई छोटा मोटा मामला नहीं है। भले ही उनके पास कम मात्रा में मादक पदार्थ पाया गया है लेकिन यह मादक पदार्थ एक ऐसी चीज है जो इंसान की सभ्यता के लिए बेहद हानिकारक है। जिसके चलते इसका सेवन करना और खरीद बेच पर सख्त सजा है।

अपने बेटे आर्यन खान को बचाने के लिए शाहरुख खान ने जीतोड़ प्रयास किया है। उन्होंने एक नहीं बल्कि दो-दो वकील रखे हुए हैं। उनकी तरफ से यह साफ है कि जैसे भी हो आर्यन खान को वापस मन्नत में एंट्री दिलवा दी जाए। इस वक्त शाहरुख खान की तरफ से सतीश मानसिंदे और अमित देसाई केस लड़ रहे हैं। लंबे समय से दोनों वकील एनसीबी के वकील के आगे टिक नहीं पा रहे हैं। ज्यादा जानकारी के लिए बता दें कि आज फैसला आ गया है, जिसमें आर्यन खान को जेल में ही आने वाले दिन काटने होंगे। इस फैसले से शाहरुख खान खुश नहीं है, जिसके चलते अब खान परिवार हाई कोर्ट का रुख करने वाले हैं, बता दें कि अब आगे की कार्यवाही मुंबई हाईकोर्ट में की जाएगी।

You cannot copy content of this page