NCB अफसर समीर वानखेड़े ने की 2 शादियां, पहली बीवी मुस्लिम तो दूसरी हिन्दू – आखिर क्या है उनका असली धर्म ?

sameer wankhede ki do shadi

डेस्क : समीर वानखेड़े ने क्या दो शादियां की हैं? अब यह सवाल हर कोई पूछ रहा है। समीर वानखेड़े मुसलमान है? यह एक ऐसा सवाल है जो महाराष्ट्र सरकार की तरफ से NCB अधिकारी समीर वानखेड़े पर उठाए गए हैं। समीर वानखेड़े पर लगे इन आरोपों का जवाब उनकी पत्नी क्रांति रेड़कर ने दिया है। उनकी पत्नी ने बताया है कि वह और समीर जन्म से ही हिंदू हैं और दोनों की शादी हिंदू रीति-रिवाज से हुई थी। उनकी पत्नी क्रांति ने अपनी शादी की तस्वीरें इंटरनेट पर डाली थी।

समीर वानखेड़े की पत्नी का कहना है की हम जन्म से ही हिंदू हैं। हम किसी दूसरे धर्म में कन्वर्ट नहीं हुए हैं। हम सभी धर्मों का आदर करते हैं। समीर के पिता भी हिंदू हैं। उन्होंने मुस्लिम औरत जिनका नाम जाहिदा था उनसे शादी की थी, जो अब इस दुनिया में नहीं है। समीर की पिछली शादी स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत हुई थी। दोनों का तलाक 2016 में हो गया था। पत्नी का खाना है की -हमारी शादी हिंदू मैरिज एक्ट के तहत 2017 में हुई थी। क्रांति के ट्वीट से साड़ी बात साफ हो गई है।

NCB Officer Sameer Wankhedes Father Said, My Name Is Gyandev, Not Dawood -  एनसीबी अफसर समीर वानखेड़े के पिता बोले, मेरा नाम ज्ञानदेव है, दाऊद नहीं |  India News In Hindi

समीर वानखेड़े की दो शादियां हुई है। सिर्फ कानून के हिसाब से कोई भी शख्स तलाक के बाद दूसरी शादी कर सकता है, रही बात वानखेड़े के मुस्लिम होने की तो जिस वक्त अधिकारी की सरकारी नौकरी लगती है। उस वक्त उनके सारे डाक्यूमेंट्स चेक होते हैं। उनका पुलिस वेरिफिकेशन भी होता है। अगर उसमें कोई गलती मिलती है, तो नौकरी नहीं दी जाती है। महाराष्ट्र सरकार की तरफ से अनेकों आरोप लग रहे हैं। जो आरोप समीर के ऊपर लग रहे हैं, वह यहीं पर बेबुनियाद हो जाते हैं।

Sameer Wankhede Wife Kranti Redkar shares marriage photos and gives reply  to Nawab malik | Sameer Wankhede की पत्नी Kranti Redkar ने फोटो दिखाकर दिया  सबूत, साफ-साफ कही ऐसी बात | Hindi

समीर वानखेड़े पर अनेकों आरोप लगने शुरू हुए हैं। जब से उन्होंने आर्यन खान को गिरफ्तार किया है तब से वह मीडिया की लाइमलाइट में हैं। इससे पहले और इसके बाद भी वो लगातार मुंबई से ड्रग्स पेडलर्स को गिरफ्तार करते आ रहे हैं।पहले कभी भी उनके ऊपर ऐसे आरोप नहीं लगे। इस बात से साफ है कि महाराष्ट्र सरकार शाहरुख के कंधे पर बंदूक रखकर राजनीति करना चाह रही है।

You may have missed

You cannot copy content of this page