मोंटी पनेसर ने बताया लाल सिंह चड्ढा है पूरे सिख समाज के लिए अपमानजनक – बोले अंग्रेज कम दिमाग वालों को रखते थे फ़ौज में

monty panesar one

डेस्क : आमिर खान की फिल्म लाल सिंह चड्ढा पहले ही बॉक्स ऑफिस पर खराब रिजल्ट के बीच संघर्ष कर रही है, अब ऐसा लग रहा है जैसे कि इसको विदेश के लोग भी नहीं पसंद करते हैं। इंग्लैंड के पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर मोंटी पनेसर ने अपनी प्रतिक्रिया दी है जिसमें उन्होंने कहा है की यह फिल्म भारतीय सेना और सिखों के चित्रण को खराब कर रही है।

आमिर खान की फिल्म लाल सिंह चड्ढा की तुलना टॉम हैंक्स के फॉरेस्ट गंप से की गई और कहा की “फॉरेस्ट गंप अमेरिकी सेना में फिट बैठता है क्योंकि अमेरिका वियतनाम युद्ध के लिए आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कम आईक्यू पुरुषों की भर्ती कर रहा था। यह फिल्म भारत सशस्त्र बलों भारतीय सेना और सिखों के लिए पूरी तरह से अपमान है !! अपमानजनक और शर्मनाक।”

स्पिनर बोलेर मोंटी पनेसर ने आगे भारतीय सेना की सेवा करने वाले सिखों के द्वारा जीते गए सम्मानों की संख्या को भी शेयर किया और आमिर खान के चित्र को अपमानजनक बताया। इस फिल्म पर मोंटी पनेसर की राय सभी के साथ अच्छी नहीं बनी क्योंकि इस्लामवादि धारा के लोग भी इसमें कूद पड़े।

किसी कारण से, आमिर खान के चित्र को पूरी तरह से अपमानजनक समझने के लिए मोंटी पनेसर को सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी से जोड़ करके देखा गया गया, बुधवार की सुबह भी आमिर खान की फिल्म सिर्फ 30,000 टिकट पीवीआर, आईनॉक्स और सिनेपोलिस में बेची गई। पहले दिन लगभग 57,000 टिकट बेचे गए।

आमिर खान की लाल सिंह चड्ढा के बहिष्कार के आह्वान ने बड़े बजट की फिल्म के प्रचार को रोक दिया है, जो टॉम हैंक्स की क्लासिक फॉरेस्ट गंप की आधिकारिक रीमेक के रुप में इंटरनेट पर मौजूद है। बीते अतीत में आमिर खान के भारत विरोधी बयान और उनकी फिल्म पीके में हिंदू देवताओं के नकारात्मक और अपमानजनक प्रभाव पर भी लोगों का गुस्सा फूटा। सभी हिंदी सिनेमा के दर्शकों के बीच में इस फिल्म को अस्वीकृत किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें   नेहा कक्कड़ और फाल्गुनी पाठक की नहीं थम रही तकरार, बोली अब जाकर हुआ गाने का सत्यनाश