बिहार में सोशल मीडिया पे नेताओं अफसरों के खिलाफ गलत लिखना पड़ेगा भारी , सोच समझ कर लिखें वरना जेल पहुँच सकते हैं आप…

Social Media

बिहार में अब नेताओं अफसरों के खिलाफ लिखना आपको जेल पहुँचा सकता है। प्रदेश की नीतीश सरकार ने नया आदेश जारी किया है कि अगर आप मंत्री, विधायक, सांसद एवं सरकारी अफसरों के खिलाफ कुछ अपमानजनक लिखेंगे तो आपके खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो सकती है। गौरतलब है कि नीतीश कुमार कई बार सोशल मीडिया के खिलाफ अपना गुस्सा दर्ज करा चुके हैं। नीतीश कुमार सोशल मीडिया को फेक न्यूज़ फैलाने वाला बताते हैं और अपने कार्यकर्ताओं से इसपे भरोसा नहीं करने की बात करते हैं।

एडीजी ने जारी किया आदेश- राज्य के आर्थिक अपराध शाखा के एडीजी नैयर हसनैन खान ने सभी प्रधान सचिवों को पत्र लिख कर इसकी सूचना दी है। एडीजी नैयर हसनैन खान द्वारा लिखे पत्र में कहा गया है कि मंत्रियो , सांसदों ,विधायको एवं सरकारी पदाधिकारियों के खिलाफ आपतिजनक , अभद्र , एवं भ्रांतिपूर्ण पोस्ट्स की सूचना साइबर विभाग को उपलब्ध कराई जाए ताकि कानून कारवाई हो सके।

सोशल मीडिया पे हो रही आलोचना- इस आदेश के आने के बाद से सोशल मीडिया पर बवाल मचा हुआ है और लोग इसकी आलोचना कर रहे हैं। लोगो का कहना है कि अगर वह नेताओ अफसरों के काम की भी आलोचना करेंगे तो उन्हें जेल भेज दिया जाएगा। अब देखने वाली बात यह है कि नीतीश कुमार इस आदेश को वापस लेते हैं या फिर बिहार में सोशल मीडिया सेंसरशिप का नया दौर चालू होगा।

You cannot copy content of this page