नहीं आए रिश्तेदार तो दरभंगा में संक्रमित पति के शव के साथ श्मशान पहुंची पत्नी, बोली- मैं दूंगी मुखाग्नि

Wife

डेस्क : कोरोना महामारी दिनों दिन देश मे‌ तूल पकड़ता दिख रहा है। ऐसा लग रहा है कि मानव जाति को खत्म कर के ही दम लेगा। हर दिन देश के अलग-अलग क्षेत्रों से कोरोना को लेकर हमेशा चौकानेवाले खबरें सामने आती रहती है। कभी-कभी तो देश में कोरोना से मरने के बाद व्यक्ति को अग्नि भी नसीब नहीं हो रही है। ‌ऐसा ही कुछ नया मामला बिहार के दरभंगा में देखने को मिला। जहां एक व्यक्ति की कोरोना से मृत्यु के बाद परिवार वाले और रिश्तेदार अर्थी को कंधा देने भी नहीं आये। इस परिस्थिति में अकेले ही महिला ने ही अपने पति का शव को लेकर दरभंगा शमशान में पहुंची। और पीपाई किट पहनकर मुखाग्नि दी।

कबीर सेवा संस्था ने व्यक्ति का किया दाह संस्कार: बताया जा रहा है कि अंतिम संस्कार के लिए महिला ने कई घंटों तक अपने परिजनों व रिश्तेदारों का इंतजार किया। लेकिन, जब कहीं से मदद नहीं मिली। अंत में अकेले ही अपने पति का अंतिम संस्कार करने की ठानी। इसी बीच उसने कबीर सेवा संस्था से संपर्क कर मदद मांगी और करीब मौत के अठारह घंटे बाद अपने पति के शव को एम्बुलेंस पर लाद महिला अकेले ही शमशान पहुंच गई। जहां कबीर सेवा संस्था के लोगों की मदद से महिला ने पीपीई किट पहनकर अपने पति को न सिर्फ मुख्यग्नि दी बल्कि विपरीत परिस्थिति में अपने हिम्मत और हौंसले का अद्भुद परिचय दिया। सबसे आश्चर्य की बात यह है कि जब महिला शव को लेकर मुक्तिधाम पहुंची। इसके बाद तीन चार उनके रिश्तेदार वहां पहुंचे जरूर, लेकिन सभी सिर्फ तमाशबीन बने रहे और काफी दूरी भी बनाये रहे।

You may have missed

You cannot copy content of this page