बिहार में मुंगेर जिला के DM का एक अनोखा तरीका, स्कूल निरीक्षण करने पहुंचे तो बन गए विद्यार्थी, लोगों ने कहा अधिकारी हो तो ऐसा

Munger DM NAvin Kumar

डेस्क : मुंगेर के डीएम का काम करने का यह तरीका देख सब आश्चर्यचकित हैं। बिहार के मुंगेर जिले में डीएम नवीन कुमार ने विद्यालय पहुंच बच्चों के साथ बैठ कर क्लास की। वे बच्चों के बीच विद्यार्थी तो बने ही उसके साथ ही में क्लास के मॉनिटर भी बने, डीएम की इस मॉनिटरिंग में बच्चों सहित अभिभावक भी बहुत खुश हुए परंतु उस विद्यालय में कार्यरत शिक्षकों के हालत खराब होता दिख रहा था। दरअसल, विद्यार्थियों को विद्यालय में अच्छी शिक्षा दी जाए, टीचर्स भी वक्त पर विद्यालय आए, कक्षा का बढियां से चलाया जाए , इन्ही सब चीज़ों को लेकर डीएम नवीन कुमार काफी कड़ा दिख रहे हैं।

वे जिले के सभी विद्यालय का निरीक्षण कर दिशा निर्देश दें रहे। इसी कड़ी में बीते मंगलवार को डीएम नवीन कुमार ने मध्य विद्यालय गढ़ी रामपुर का अचानक से निरीक्षण करने पहुंचे। इसी दौरान डीएम ने बच्चों से बहुत सारी बातें भी की, उनके शिक्षा के सम्बंध में जानकारी ली। साथ ही जिलाधिकारी ने कक्षा में बच्चों के बीच पहले बेंच पर ही बैठ गए। डीएम साहब ने उस विद्यालय के शिक्षकों को गाइड किया। निरक्षण के दैरान उन्होंने विद्यार्थियों के मन की बात भी जानने की प्रयास की। जिलाधिकारी नवीन कुमार ने क्लास रूम में गए, तो को विद्यार्थियों को कैसे पढ़ाया रहा है किस हिसाब से अध्यापन कार्य चल रहा है इन सब चीजों की समीक्षा की। बच्चों को पढ़ाएं जा रहे सभी बातों काे गौर से सुना। साथ ही अध्यापकों को कई दिशा निर्देश भी दिए।

मालूम हो कि डीएम के द्वारा कैश बुक संधारण, उपस्थिति पंजी, साफ सफाई का अवलोकन किया गया। उन्होंने स्कूल में उपस्थित विद्यार्थियों से बात करते हुए पढ़ाई के संबंध में काफी सारे जानकारीली। जिलाधिकारी के नियमित रूप से विद्यालयों में चलाए जा रहे निरीक्षण से एक तरफ स्टूडेंट्स व उनके अभिभावक खुश नजर आ रहें हैं वहीं दूसरे तरफ विद्यालय विलंब से पहुंचने वाले शिक्षकों में हल-चल मच गई है।

You may have missed

You cannot copy content of this page