31 January 2023

अमेरिका से बिहार आई अजीबोगरीब मछली, बढ़ी वैज्ञानिकों की चिंता, जानें-

अमेरिका से बिहार आई अजीबोगरीब मछली, बढ़ी वैज्ञानिकों की चिंता, जानें- 1

न्यूज डेस्क: भारत नदियों का देश माना जाता है। देश के हर राज्य में कई महत्वपूर्ण नदियां है। इन नदियों को बचाने की के लिए तमाम कोशिशें की जाती है। ऐसे में बिहार के गोपालगंज के गंडक नदी में एक ऐसी मछली पाई गई, जिसने वैज्ञानिकों की परेशानी बढ़ा दी है।

इस अजीबोगरीब मछली का नाम सकर माउथ कैटफिश बताया जा रहा है। यह अमेरिका के अमेजन नदी में पाई जाने वाली मछली है। यह मछली गंडक नदी में पहले भी पाई जा चुकी है। वहीं दोबारा पाई जाना चिंता का विषय है। दरअसल यह मछली मांसाहारी प्रवृत्ति की होती है। जो मछली और जलीय जीवो का भक्षण कर जीवित रहती है। ऐसे में वैज्ञानिकों का कहना है कि यह नदी के पर्यावरण तंत्र को बिगाड़ सकती है।

इस मछली के रूप रंग देख मछुआरे हैरान रह गए। इसके चार आंखें और एक एरोप्लेन की तरह पंख है। यह मछली गोपालगंज में बहने वाली गंडक नदी में पहले भी मिल चुकी है। दोबारा से मिलने पर वैज्ञानिकों सहित स्थानीय की चिंता बढ़ गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सिधवलिया प्रखंड के डुमरिया गांव में बीते मंगलवार को मछुआरे ने नदी में जल बिछाया जाल बिछाया।

इस जाल में तमाम मछलियों के बीच एक सकर माउथ कैटफिश मिली। इस अजीबोगरीब दिखने वाली मछली को मछुआरे ने पकड़ कर घर ले आया। मछुआरे इस मछली को घर लाने के बाद एक नाद में डाल कर रख दिया। इसके बाद एक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया। सोशल मीडिया पर यह वीडियो काफी वायरल होने लगा। जिसके बाद अगल बगल के गांव से लोगों की भीड़ बढ़ने लगी।

मत्स्य विकास अधिकारी रोहित शर्मा का ने बताया कि मछली पर्यावरण तंत्र को बिगाड़ देगी। तमाम जानकारों के मन में भी एक सवाल उठने लगा कि हजारों किलोमीटर दूर अमेरिका के अमेज़न नदी में पाए जाने वाली मछली गोपालगंज के गंडक नदी में कैसे आई। फिलहाल इस मछली को लेकर चर्चा जोरों पर है।