बिहार में बाढ़ का भीषण रूप : कई जिलों में फैला पानी, अगले पांच दिनों तक बारिश और ठनका का इन जिलों में अलर्ट

Bihar Flood

न्यूज डेस्क : बिहार में लगातार हो रही मानसूनी बारिश के चलते विभिन्न जिलों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है। बता दे की अभी भी बारिश से राहत नहीं मिलने वाली है। पटना मौसम विभाग अब बिहार में 1 जुलाई तक बारिश और वज्रपात का अलर्ट जारी किया है। बारिश की वजह से खासकर, उत्तरी दक्षिणी बिहार के लोग बाढ़ से ज्यादा प्रभावित हुए हैं।

लोगों के घरों तक पानी घुस गया है। लोग अपने घरों से बाहर निकलकर ऊंचे स्थान की ओर पलायन कर रहे हैं। बिहार आपदा प्रबंधन के मुताबिक राज्य के 4 जिलों के 16 प्रखंडों के निचले इलाके बाढ़ के पानी से घिर चुके हैं। जिनमें पश्चिमी चंपारण के 2 प्रखंड, बगहा के 2 प्रखंड, पूर्वी चंपारण जिले के 5 प्रखंड जिसमें अरेराज, संग्रामपुर, केसरिया, सुगौली और बंजरिया में जहां बाढ़ की स्थिति उत्तपन्न हो गई है। इसके साथ ही गोपालगंज जिले के 6 प्रखंड वैकुंठपुर, बरौली, कुचायकोट, मांझा, सिंघबलिया और सारण के 3 प्रखंड पानापुर, तरैया और मकेर में कई इलाके जलमग्न हो गए हैं।

अबतक 9 हजार लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया: बता दें कि बाढ़ से सड़क से लेकर रेलवे यात्रा तक ठप हो गया हैं। जिन जिलों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हुई है। उन सभी जिलों में जिला प्रशासन की पूरी टीम मुस्तैद है। और एनडीआरएफ (NDRF) , एसडीआरएफ (SDRF) के सहयोग से अबतक बाढ़ में फंसे 9 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। सभी प्रभावित जिलों में आपदा विभाग की ओर से जहां कैम्प लगाए गए हैं। वहीं सामुदायिक किचन भी काम कर रहा है।

रविवार को सबसे अधिक बारिश बेगूसराय में: मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में रविवार को सर्वाधिक बारिश बेगूसराय के कोडवानपुर मे 134 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। इसके अलावा सुपौल के बासु में 113.3 मिलीमीटर तथा सोलीघाट में 110 , नालंदा के बिहारशरीफ में 85 मिलीमीटर, जाले व दरभंगा में 80-80 मिलीमीटर सहित 14 अन्य जिलों में 50 मिलीमीटर से अधिक बारिश हुई है़।

बारिश को लेकर अलर्ट: वही बाढ़ के साथ-साथ बारिश भी तबाही का रूप ले लिया है। पटना मौसम विभाग के मुताबिक राज्य के विभिन्न जिलों के लिए 5 दिनो के लिए अलर्ट पर रखा है। जिसमें वज्रपात के साथ भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया है। मौसम विभाग ने इन जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। उनमें बेगूसराय, खगड़िया, समस्तीपुर, मधेपुरा, मुंगेर, भागलपुर, सहरसा पूर्वी और पश्चिमी चंपारण के साथ-साथ सारण, गोपालगंज, सिवान, सीतामढ़ी, शिवहर, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, अररिया, सुपौल, किशनगंज, पूर्णिया, बांका, कटिहार, जिले शामिल हैं। इसी बीच आपदा प्रबंधन विभाग ने बारिश व बज्रपात के दौरान लोगों को सतर्कता बरतने की अपील की है। कहा गया है कि लोग खुले स्थानों या पेड़ की नीचे बिल्कुल शरण नहीं लें, क्योंकि बारिश के साथ भारी वज्रपात की संभावना बनी है।

You cannot copy content of this page