परिवहन विभाग ने किया बड़ा बदलाव, ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना हुआ बेहद आसान, जान लें यह नियम

Traffic Police

डेस्क : बिहार में ड्राइविंग लाइसेंस के लिए टेस्ट पास करना सरल होगा। दरससल बिहार परिवहन विभाग ने टेस्ट के नियमों में बदलाव करते हुए थोड़ा आसान कर दिया है। पहले आवेदकों के लिए टेस्ट पास करना कठिन था। मालूम हो कि टेस्ट पास करने हेतु आवेदकों को दो पहिया वाहन चला के दो बार आठ (8) बनाना पड़ता है।

पूर्व में नियम के तहत जमीन पर पांव रखने पर चालक को टेस्ट में फैल किया जाता था। लेकिन अब आवेदक टेस्ट के दौरान वाहन चलाते हुए दो बार जमीन पर पांव रख पाएंगे। अब उन्हें दो बार जमीन पर पांव रखने की छूट मिलेगी।

कंप्‍यूटर्स में किया गया टेस्टिंग ट्रैक से बदलाव

मिले जानकारी के अनुसार, परिवहन मुख्यालय के द्वारा इसको लेकर आदेश दे दिया गया है। यह नियम बीते सोमवार से लागू कर दिया गया है। अफसरों की माने तो टेस्‍टि‍ंग ट्रैक से जुड़े सभी कंप्यूटर्स में संशोधन किया गया है। मालूम हो कि पहले टेस्ट में सफल होने वालों की संख्या 45 से 50 प्रतिशत ही होती थी। इस नए आदेश के आने से 80 फीसद आवेदकों के पास होने की उम्मीद जताई जा रही है।

राज्य के सभी जिलों में तैयार होगा कंप्‍यूटराइज्‍ड टेस्टिंग ट्रैक

इस संबंध में पटना के जिला परिवहन अधिकारी श्री प्रकाश ने कहा कि परिवहन मुख्यालय की ओर से टेस्टिंग ट्रैक पर परीक्षा देने वालों आवेदकों को थोड़ी राहत प्रदान करने का फैसला लिया गया है। बतातें चले कि पटना में ड्राइविंग टेस्‍ट के लिए कंप्‍यूटराइज्‍ड टेस्टिंग ट्रैक भी तैयार किया गया है। इस नए कंप्‍यूटराइज्‍ड टेस्टिंग ट्रैक में किसी तरह की सोर्स-पैरवी नहीं चलती है क्योंकि इसमें सब कुछ अपने आप कंप्‍यूटर में रिकार्ड होता है। राज्य के अन्य जिलों में भी शीग्रह ही इस प्रकार के ट्रैक तैयार करने की योजना है।

You cannot copy content of this page