जातिगत जनगणना को लेकर बिहार राज्य के लिए आज का दिन है बेहद खास, क्यों है खास पढ़े पूरी खबर

Census

न्यूज डेस्क : बिहार राज्य से लेकर दिल्ली तक में जातिगत जनगणना को लेकर सियासत गर्म है। इसी बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के तरफ से एक बड़ा बयान दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जातिगत जनगणना के मुद्दे को लेकर राज्य के सत्ता पक्ष से लेकर बिपक्ष तक एक है। मुख्यमंत्री आगे कहते हैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से यह उम्मीद है कि वे इस मुद्दे पर सकारात्मक रुख रखेंगे। मुख्यमंत्री के द्वारा यह बयान समस्तीपुर के बाढ़ वाले इलाके के निरक्षण के दौरान दिया गया था।

बतादें कि बिहार में जातिगत जनगणना को लेकर सभी का मत एक नज़र आ रहा है, चाहे सत्ता पक्ष हो या विपक्ष हो। मालूम हो कि नीतीश कुमार इस मुद्दे पर बहुत गंभीर दिख रहे हैं। नीतीश कुमार 23 अगस्त यानी आज नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के साथ कई सारे दलों को अपने साथ लिए प्रधानमंत्री से मिलकर जातिगत जनगणना के संदर्भ में बात करेंगे। बता दें कि करीब दस दलों के प्रतिनिधि प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात करने जा रहें हैं।

मालूम हो कि जातिगत जनगणना प्रधानमंत्री मोदी के साथ बैठक को लेकर मुख्यमंत्री ने यह कहा कि हमारी पीएम मोदी से यह मांग रहेगी कि केंद्र सरकार के द्वारा जातिगत जनगणना कराया जाए। जब सब लोगों का मन है तो एक बार अवश्य जातिगत जनगणना कराया जाना चाहिए। हमारे द्वारा केंद्र से आग्रह किया जाएगा,और इस मुद्दे से संबंधित निर्णय लेना क्रेंद्र का अधिकार है। बिहार के सभी पार्टी से एक नेता पीएम मोदी से मुलाकात वाले प्रतिनिधि मंडल में शामिल हैं।

You cannot copy content of this page