बिहार में नहीं होगी बिजली की किल्लत, नबीनगर NTPC पावर प्‍लांट से 660 मेगावाट की दूसरी यूनिट शुरू..

NTPC NAVI NAGAR

न्यूज डेस्क: बिहार वासियों के लिए खुशखबरी है। क्योंकि जल्द ही 660 मेगावाट की दूसरी एनटीपीसी बिजली का उत्पादन होने जा रहा है। इससे बिहार में बिजली की किल्लत दूर हो जाएगी। जानकारी के मुताबिक औरंगाबाद जिले स्थित नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन (NTPC) नबीनगर पावर जनरेटिंग कंपनी (NPGC) की दूसरी 660 मेगावाट वाली इकाई का शुक्रवार को वाणिज्यिक संचालन शुरू हो जाएगा। इससे बिहार को करीब 559 मेगावाट बिजली मिलेगी। एनटीपीसी ने कहा है कि राज्य में बिजली की कमी नहीं होगी। बता दे की इस यूनिट का 72 घंटे का ट्रायल ऑपरेशन इस साल मार्च में सफलतापूर्वक किया गया था। इस यूनिट के शुरू होने से बिहार के उद्योगों को बड़ी मदद मिलने की उम्मीद है।

यूपी झारखंड समेत इन राज्यों को भी फायदा होगा: बताते चले की 660 मेगावाट वाली नबीनगर पावर जनरेटिंग कंपनी (NPGC) की इकाई से बिहार, उत्तर प्रदेश, झारखंड और सिक्किम जैसे राज्यों को आधिकारिक तौर पर लाभ मिलेगा। क्योंकि, 660 मेगावाट में 559 मेगावाट बिजली बिहार को मिलेगी यानी 84.8 मिलेगी। शेष बची बिजली उत्तर प्रदेश, झारखंड और सिक्किम को आवंटित की जाएगी। NTPC मुख्य कार्यकारी अधिकारी विजय सिंह ने कहा, “एनपीजीसी की यूनिट-2 के वाणिज्यिक संचालन की शुरुआत एक मील का पत्थर है। जो एनटीपीसी की ओर से एनपीजीसी को पूरा करने की दिशा में की जा रही प्रगति को दर्शाता है।”

7270 मेगावाट की परियोजनाएं निर्माणाधीन हैं: बता दे की नबीनगर पावर जनरेटिंग कंपनी (NPGC) परियोजना से बिजली उत्पादन के साथ ही नवीनगर पावर जेनेरटिंग कंपनी की कुल उत्पादन क्षमता 1320 मेगावाट हो जायेगी। इस परियोजना की 660 मेगावाट की तीसरी व अंतिम इकाई का निर्माण कार्य भी अपने अंतिम चरण में है इस यूनिट से भी आने वाले छह महीने में बिजली उत्पादन शुरू हो जायेगा। बिहार,झारखंड और पश्चिम बंगाल में कुल नौ परियोजनाओं में से सात परियोजनाओं की 9160 मेगावाट की विद्युत उत्पादन क्षमता है। साथ ही 7270 मेगावाट की परियोजनाएं निर्माणाधीन हैं।

You may have missed

You cannot copy content of this page