पूर्व मंत्री ने कभी रामविलास पासवान को दिलाया था पहली बार टिकट, जब पुत्र चिराग की लड़खड़ाई राजनीति तो पहुंचे आर्शीवाद लेने

Chirag Paswan Meet Ram Jeevan Singh

डेस्क : राजनीति में कुछ भी तय नहीं होते हैं। कब किस करवट ऊंट बैठेगा ठीक इसी वाक्य की तरह असंभावित है। कभी लोजपा के एकमात्र रास्ट्रीय अध्यक्ष के रूप जाने वाले चिराग पासवान अभी पार्टी बचाने के लिए बिहार की सड़कों पर आशीर्वाद यात्रा लेकर निकल रहे हैं। चिराग पासवान बेगूसराय के मंझौल पहुंचकर वरिष्ठ समाजवादी नेता व पूर्व मंत्री रामजीवन सिंह का आशीर्वाद लिया।

बताते चलें कि पूर्व मंत्री रामजीवन सिंह का आशीर्वाद चिराग के लिए अभी के बदले राजनीतिक परिस्थितियों में इतना महत्वपूर्ण था। यह बात चिराग पासवान और पूर्व मंत्री रामजीवन सिंह के बीच हुए बातचीत के बाद चर्चा में आ गयी। इनदोनो की एक दुसरे से यह पहली मुलाकात थी। बताते चलें कि बिहार के हाजीपुर जिले से आशीर्वाद यात्रा लेकर निकले जमुई सांसद चिराग पासवान शुक्रवार को मंझौल पहुंचे थे। जहां उन्होंने जयमंगला गढ़ जाकर जयमंगला माता के पूजा अर्चना के बाद पूर्व मंत्री रामजीवन सिंह के मंझौल चौथैया स्थित उनके आवास पर गए थे। जहाँ चिराग ने पूर्व मंत्री के पैर छूकर आशीर्वाद लिया । उन्होंने पूर्व मंत्री के साथ बैठकर करीब एक घण्टे तक बातचीत की।

रामविलास पासवान को पहली बार टिकट मिला था तो पूर्व मंत्री थे जिलाध्यक्ष : पूर्व मंत्री रामजीवन सिंह ने भी पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास के साथ अपने पुराने संस्मरण को साझा किया। उन्होंने कहा कि वर्ष 1969 में मैं मुंगेर जिला सोशलिस्ट पार्टी का अध्यक्ष था। जाड़े का मौसम था और नहाकर आया था। धूप में देह सुखाने के ख्याल से बैठा था और उस समय के पार्टी का अखबार जनता लेकर पढ़ रहा था। तभी रामविलास पासवान अलौली क्षेत्र का टिकट सोशलिस्ट पार्टी के टिकट लेने पहुंचे कार्यालय में पहली बार मुलाकात हुई थी।

आगे उन्होंने कहा कि उस समय अलौली ( सुरक्षित ) से कांग्रेस के विधायक मिश्री सदा हुआ करते थे। वे आजादी के बाद से ही लगातार जीत रहे थे। वहां से सोशलिस्ट पार्टी से कोई लड़का हिम्मत कर टिकट मांगने आया था। मैंने मन में विचार किया इसकी मदद करनी चाहिए। तबतक वह आवेदन लिखकर आये। हमने उनके आवेदन की गलतियों की फ्रूफ रीडिंग कर ठीक किया और कहा ठीक है। मैं पटना जा रहा हूं और वहां जननायक कर्पूरी ठाकुर जी से मिल कर सारी बात बताया। कहा पार्टी सिंबल ले जाइएगा।

पूर्व मंत्री ने बगीचे की आम चिराग के घर कार्टून में पैक कर भिजवाया : करीब 90 वर्षीय रामजीवन बाबू ने चिराग को अपने घर का सदस्य बताया और खूब तरक्की करने का आशीर्वाद दिया । उन्होंने कुछ राजनीतिक गुर भी दिया । इस दौरान चिराग पासवान ने अपने पिता रामविलास पासवान से रामजीवन सिंह के बारे में जो भी सुनने को मिलता था । वो सब कहा । तत्कालिक परिस्तिथियों पर भी चर्चा हुई तो पूर्व मंत्री ने राजनीति में हिम्मत , धैर्य और सच्चाई के साथ सदा चलने की बात बताई । जब मुलाकात के बाद चिराग पासवान नेताओं के साथ निकले तो पूर्व मंत्री के बगीचे की आम को कार्टून में पैक करके घर पर भेजने के लिए दिया गया ।

You cannot copy content of this page