रुपये बांटकर बुरे फंसे तेजस्वी, तेजस्वी यादव का महिलाओं को नोट बांटने का वीडियो वायरल, JDU ने राज्य निर्वाचन आयोग से की शिकायत

Tejaswi Yadav

न्यूज डेस्क : बिहार में पंचायत चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में नेता प्रतिपक्ष लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। इस वायरल हो रहे वीडियो में तेजस्वी यादव कुछ महिलाओं को नोट बांटते हुए दिखाई दे रहे हैं। बस होना क्या था देखते ही देखते यह वीडियो सोशल मीडिया पर पूरी तरीके से फैल गया, और विपक्षी पार्टी इस पर तंज कसने लगे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह वायरल वीडियो बिहार के गोपालगंज जिले के बैकुंठपुर के विधायक प्रेम शंकर के पैतृक गांव का बताया जा रहा है।

बता दे की इस वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव अपनी कार में बैठे-बैठे ही कुछ महिलाओं को 500-500 रुपए के नोट थमा रहे है, इसके साथ ही तेजस्वी यादव उस महिला से पूछ रहे हैं, ” हमको पहचान रही हो? जिसके बाद अगल बगल में खड़े लोग बताने लगते हैं कि यह लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे हैं। तेजस्वी यादव महिलाओं से हाथ जोड़ते नजर आ रहे हैं और महिलाएं भी उनको धन्यवाद दे रही हैं। इस पूरे घटनाक्रम को जनता दल यूनाइटेड (JDU) ने बारीकी से पकड़ा। और तेजस्वी यादव को घेर लिया। बता दे की JDU के मुख्‍य प्रवक्‍ता और राज्‍य के पूर्व जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार ने इस वायरल वीडियो क्लिप पर पूरा तंज कसा है। उन्‍होंने लालू यादव को भी निशाना बनाते हुए तेजस्‍वी को राजकुमार बताया है। नीरज ने कहा कि तेजस्‍वी को कोई जानता तक नहीं, उन्‍हें पहचानता तक नहीं।

कहां से आया है यह वीडियो? मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तेजस्वी यादव इस वक्त बिहार दौरे पर हैं। इसी बीच गुरुवार तेजस्वी यादव गोपालगंज के बैकुंठपुर देहाती इलाकों से गुजर रहे थे। तभी उनके सामने कुछ बाढ़ प्रभावित महिलाएं दिखी, फिर वो कार से ही कुछ महिलाओं को रुपए बांटते नजर आए। उसके बाद RJD के कुछ समर्थकों ने इस पूरा घटनाक्रम का वीडियो बनाकर राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के फेसबुक पेज पर पोस्ट कर दिया। इस वीडियो में यह भी देखा जा सकता है कि एक शख्‍स महिलाओं को तेजस्‍वी की पहचान बताता सुना जा रहा है। लेकिन उसकी आवाज साफ तौर पर सुनी जा सकती है। वीडियो में पहले एक आवाज सुनाई पड़ती है, जिसमें कोई पूछता है कि‍ कौन साहब हैं?

JDU के प्रवक्ता नीरज कुमार लिखते हैं: बता दें कि यह वीडियो वायरल होते हैं वीडियो के कई कार्यकर्ता आरजेडी पर तंज कसते नजर जा रहे हैं। सबसे पहले JDU के प्रवक्ता नीरज कुमार अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखते है “कोई जानता नहीं-पहचानता नहीं, कौन है ये राजकुमार जिसने आंचल में रुपया गिराया है, घमंड का खुमार इस कुमार पर इतना छाया, अमीरी-गरीबी का फ़र्क़ बताया, कोई पीछे से लालू का लाल है बताता, भूत के वर्तमान का हाल दिखाता, जाओ बबुआ अपनी पहचान बनाओ, आर्थिक लुटेरे होने का दाग़ मिटाओ, नीरज दूसरे ट्विटर में लिखते हैं “पीछे से कोई कहता है, कि ये लाल उन्हीं का है.. जिन्होंने लिखवा ली थी उनकी ज़मीन, बदले उसके चंद नोट के टुकड़े, आंचल में सबके डाल आया था..लालू के लाल से पूछो गरीबी का माखौल क्यों उड़ाया..वोट को नोट क्यों दिखलाया, इंसानों की मज़बूरी का कुछ तो लिहाज़ कर लो…शर्म करलो बबुआ।’

वीडियो कब का है, यह अभी तक पुष्टि नहीं हुई: बता दें कि इस वायरल वीडियो की पुष्टि अभी तक नही हुई है। हालांकि, JDU कार्यकर्ता द्वारा यह वीडियो गुरुवार का बताया जा रहा है। जबकि, “द बेगूसराय” इस वायरल वीडियो के पृष्ठ नहीं करता है। बता दें कि सोशल मीडिया पर इस वीडियो को लोग अलग-अलग दिन का बता रहा है। कुछ लोग इस वीडियो को 2020 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान प्रचार का बता रहे हैं तो कुछ लोग इसे हाल ही का बता रहे हैं। कुछ सोशल मीडिया यूजर का कहना है कि पिछले गुरुवार को तेजस्वी यादव गोपालगंज जिले के बैकुंठपुर गए थे। यहां उन्होंने बिहार विधानसभा के पूर्व सदस्य रहे देवदत्त प्रसाद की 10वीं पुण्यतिथि के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया था, उसी दौरान ग्रामीण महिलाओं से मुलाकात के दौरान नोट बांटे

You cannot copy content of this page