स्वच्छ सर्वेक्षण 2021: स्टेट रैंकिंग में बिहार को मिला 13वां स्थान, जानें- किस जिलों को मिली कितनी रेटिंग..

Patna

डेस्क: केंद्र सरकार ने शनिवार को स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 की स्टेट रैंकिंग जारी कर दिया, जिसमे 100 से अधिक नगर निकाय वाले राज्यों में बिहार 13वें पायदान पर है, वहीं, पूरे भारत के जिला रैंकिंग में देश भर के 659 जिलों में से गया जिला को 289वां, वही सुपौल को 300वां, पटना को 313वां और मुजफ्फरपुर को 351वां स्थान मिला है।

सुपौल जिला को बेस्ट सिटीजन फीडबैक का अवार्ड मिला: बता दे की स्वच्छ सर्वेक्षण के लिए घोषित कुल 121 अवार्ड में से पूर्वी क्षेत्र के लिए एकमात्र बिहार के सुपौल जिले को Best Citizen Feedback का अवार्ड मिला है, बरहाल ही की सुपौल को यह अवार्ड 50 हजार से 1 लाख आबादी वाली श्रेणीमें मिला है। ओडीएफ (ODF) प्लस वाले देश के 2,284 शहरों में बिहार के 24 शहर शामिल हैं।

देश के 48 शहरों में पटना 44 में नंबर पर: बताते चले की अगर, नेशनल रैंकिंग की बात करे तो इस बार 10 लाख से अधिक वाले टॉप-48 शहरों में बिहार से एकमात्र पटना 44वें नंबर पर रहा.. हालांकि, 2019 की तुलना में पटना की रैकिंग में तीन स्थानाें का सुधार हुआ है, स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 में पटना सबसे अंतिम 47 पायदान पर था।

10 लाख आबादी वाले शहरों में: बता दे की एक से 10 लाख की आबादी वाले 374 शहरों में गया ने 208, बिहारशरीफ ने 231, हाजीपुर ने 246, मुजफ्फरपुर ने 250, मुंगेर ने 263, दरभंगा ने 268, छपरा ने 270, बेगूसराय ने 284, बगहा ने 299, मोतिहारी ने 308, बेतिया ने 313, सहरसा ने 315, दानापुर ने 317, किशनगंज ने 328, कटिहार ने 352, आरा ने 353, बक्सर ने 357, जहानाबाद ने 361, सीवान ने 362, भागलपुर ने 366, पूर्णिया ने 367 और सासाराम ने 372वें स्थान पर अपनी अपनी जगह बनाई,

गंगा किनारे स्थित शहर की रैंकिग: गंगा किनारे वाले एक लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में मुंगेर दूसरे, पटना तीसरे, हाजीपुर सातवें, छपरा आठवें, बेगूसराय नौवें, बक्सर 11वें, जमुई जिला स्थित जमालपुर को 20वें, दानापुर 24वें और भागलपुर 40वें नंबर पर रहा,, गंगा किनारे के ही एक 1 लाख से कम आबादी वाले 43 शहरों में सोनपुर चौथे, सुल्तानगंज 16वें, बख्तियारपुर 18वें, तेघड़ा 19वें, फतुहा 22वें, मोकामा 27वें, बड़हिया 33वें, कहलगांव 34वें और बाढ़ 36वें स्थान पर है।

You cannot copy content of this page