बिहार में गन्ने से गुड़ उत्पादन को मिल सकता है उद्योग का दर्जा, 50 प्रतिशत अनुदान देगी सरकार

Sugarcane

डेस्क : देश के कोई भी राज्य तभी ही आर्थिक रूप से मजबूत होगा, जब वहां कल, कारखाने, और लघु उद्योग लगाया जाएगा। इसी कड़ी बिहार सरकार ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मज़बूती प्रदान करने हेतु एक बेहतरीन पहल करने वाली है। मालूम हो कि बिहार भारत का पहला ऐसा राज्य होगा जहां गन्ने (Sugarcane) तैयार होने वाली गुड़ उत्पादन को उद्योग का दर्जा मिलने की संभावना है। खबर है कि इसकी तैयारी बिहार सरकार द्वारा की जा रही है।

बतादें कि इस पहल के तहत किसी भी गन्ना उत्पादक व इस से जुड़े व्यवसायी गन्ने उद्योग को शुरू करना चाहेंगे उन्हें राज्य सरकार की ओर से 50 प्रतिशत अनुदान भी मिलेगी। इसके अलावा गुड़ जो का उत्पादन होगा, सरकार उसका मार्केट तैयार करने में भी सहायता करेगी। इतना ही नहीं सरकार गुड़ को राज्य के बड़े मॉल और बड़े-बड़े शॉपिंग सेंटरों में लोगों को आकर्षित करने के लिए नए कलेवर में पेश करने की प्रयास करेगी।एक साक्षात्कार राज्य में गन्ना मंत्री प्रमोद कुमार ने कहा कि बहुत शीघ्र ही कैबिनेट में सरकार द्वारा इस योजना को पेश कर मंज़ूरी देने की प्रयास की जाएगी। उन्होंने आगे बताया कि राज्य के विभिन्न जिलों में, इसमे उत्तर बिहार के चंपारण, गोपालगंज, सारण, शिवान समेत कई सारे जिलों में काफी मात्रा गन्ना की खेती होती है। वहीं किसान गन्ने से गुड़ का उत्पादन भारी मात्रा में करते हैं।

प्रमोद कुमार ने कहा कि यदि ऐसे में गुड़ उत्पादन को बढ़ावा देने हेतु सरकार गुड़ को उद्योग का दर्जा देती है तो राज्य के गन्ना किसानो की तकदीर काफी बदल जाएगी। इतना ही नहीं गुड़ उद्योग के तैयार होने से बड़े स्तर पर रोजगार का भी रास्ता खुलने की सम्भावना बढ़ जाएगी, जिसका लाभ बिहारवासी को मिलेगा।

You may have missed

You cannot copy content of this page