सृजन घोटला : दोनों मुख्य आरोपियों अमित-प्रिया की संपत्ति आगामी 10 दिसंबर से जब्त की जाएगी, लंबे समय से फरार हैं

Srijan Ghotala

डेस्क : आगामी 10 दिसंबर से सृजन घोटाला के दोनों मुख्य आरोपियों अमित कुमार और रजनी प्रिया की संपत्ति जब्त करनी शुरू की जाएगी। मालूम हो कि अमित सृजन की संस्थापक मनोरमा देवी के बेटे हैं और रजनी प्रिया बहू हैं। इन दोनों की भागलपुर के अलावा सबौर सहित कई जगहों पर कई संपत्ति है जिसकी सूची बनायी गई है। दोनों सृजन घोटाला में मुख्य आरोपी हैं। दोनों अब तक इस मामले में फरार चल रहे हैं।

इन दोनों की गिरफ्तारी के लिए सदर एसडीओ ने तीन सीओ को अधिकृत किया है। इस बारे में सीबीआई न्यायालय के निर्देशानुसार जिलाधिकारी प्रणव कुमार ने एसडीओ को आदेश दिया था। डीएम के आदेश के आलोक में एसडीओ ने अमित एवं प्रिया की संपत्ति जब्त करने का आदेश निर्गत किया है। 10 दिसंबर से सभी प्रश्नगत संपत्ति के अधिग्रहण के बाद इंवेंट्री तैयार करने के साथ-साथ विधि-व्यवस्था संधारण के लिए सबौर के अंचलाधिकारी विक्रम भाष्कर झा, जगदीशपुर के अंचलाधिकारी संजीव कुमार और नाथनगर के अंचलाधिकारी राजेश कुमार को दंडाधिकारी के रूप में प्रतिनियुक्त किया गया है।

साथ ही, प्रतिनियुक्त दंडाधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि संबंधित अंचल क्षेत्रान्तर्गत संबंधित थानाध्यक्ष से समन्वय स्थापित कर संपत्ति का अधिग्रहण एवं इंवेट्री तैयार कराते हुए विधि-व्यवस्था संधारण करना सुनिश्चित करेंगे। इंवेट्री तैयार करने के लिए अपने स्तर से आवश्यकतानुसार कर्मी की प्रतिनियुक्ति करते हुए संपत्ति का अधिग्रहण और इसके बाद दैनिक प्रतिवेदन भी देंगे। आदेश में बताया गया है कि प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी के साथ पुलिस पदाधिकारी सहित सशस्त्र बल की प्रतिनयुक्ति 10 दिसंबर से वरीय पुलिस अधीक्षक के स्तर से की जाएगी।

You cannot copy content of this page