4 February 2023

बिहार की बेटे का जलवा बरकरार – पिता चलाते थे ऑटो, अब बेटे ने india Team क्रिकेट में बरपाया कहर..

बिहार की बेटे का जलवा बरकरार - पिता चलाते थे ऑटो, अब बेटे ने india Team क्रिकेट में बरपाया कहर.. 1

डेस्क : बांग्लादेश A और भारत A की टीम के बीच खेले जा रहे दूसरे अनाधिकारिक टेस्ट मैच में भारतीय गेंदबाज मुकेश कुमार ने गदर काट डाला। मंगलवार से शुरू हुए इस दूसरे मुकाबले में मुकेश कुमार ने घातक गेंदबाजी करते हुए 15.5 ओवर में ही कुल 6 विकेट चटका डाले। इसके लिए उन्होंने सिर्फ 40 रन दिए और 5 मेडिन ओवर फेंके। मुकेश कुमार ने अपनी गेंदबाजी से इस कदर कहर बरपाया कि बांग्लादेश A के बल्लेबाज देखते ही रह गए।

मुकेश ने तोड़ी बांग्लादेश की कमर : मुकेश ने अपनी गेंदबाजी से ओपनर जाकिर हसन को 46, महमुदुल हसन को 12 और कप्तान मोहम्मद मिथुन को 4 रन पर पवेलियन का रास्ता दिखाया इसके बाद उन्होंने जाकिर अली को 62, आशिकर जमां को 21 और मुस्फिक हसन को 0 पर बोल्ड पर बांग्लादेश की टीम की कमर तोड़ दी। मुकेश कुमार की इस घातक गेंदबाजी के चलते बांग्लादेश की टीम पहली पारी में कुल 252 रन ही बना सकी। भारतीय टीम की ओर से उमेश यादव ने 16 ओवर में 55 रन देकर 2 और जयंत यादव ने 16 ओवर में 56 रन देकर 2 विकेट झकटे। फिलहाल टीम इंडिया ने 4 ओवर में बिना किसी विकेट के नुकसान पर 11 रन बना लिए हैं।

टैक्सी डाइवर थे मुकेश के पिता : मुकेश कुमार मूलतः बिहार के गोपालगंज के रहने वाले हैं। क्रिकेट के लिए उन्हें अपना घर और राज्य तक छोड़ना पड़ा। मुकेश के दिवंगत पिता कोलकाता में ऑटो चलाते थे। पिता चाहते थे कि उनका बेटा उनकी आमदनी में हाथ बंटाए, लेकिन मुकेश के सपने कुछ अलग थे। उन्होंने 20 की उम्र में क्रिकेट को प्रोफेशनल तरीके से शुरू भी कर दिया था। इससे पहले वह रोजाना की आमदनी के लिए क्लब क्रिकेट भी खेलते थे। साल 2014 में क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल (CAB) के ट्रायल में पहली बार उन्हें रिकग्नाइज भी किया गया। हर क्रिकेटर की तरह मुकेश कुमार भी यही चाहते हैं कि उन्हें एक दिन टीम इंडिया से खेलने का मौका मिले।