Rashtriya Jan Jan Party RJJP : बिहार में विकासवाद की राजनीति के लिए सर्व समाज के आह्वान पर हुआ राष्ट्रीय जन जन पार्टी (RJJP) का गठन

पटना, 30 मई 2020 : भूमिहार – ब्राह्मण एकता मंच फाउंडेशन के माननीय आशुतोष कुमार ने आज राजधानी पटना में एक प्रेस कांफ्रेंस कर बिहार में विकासवाद की राजनीति के लिए एक नये राजनैतिक विकल्‍प के तहत राष्ट्रीय जन जन पार्टी के गठन की घोषणा की। इस दौरान उन्‍होंने कहा कि पिछले एक दशक में बिहार में मजबूत राजनीतिक विकल्प की मांग को लेकर निरंतर कोई न कोई आंदोलन देखने को मिलता रहा है। बिहार के युवा किसान मजदूर पिछले 30 वर्षों में खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं।

पिछले आंदोलन को आगे बढ़ाते हुए 7 नवंबर को पटना के गांधी मैदान में सरकार के खिलाफ सवर्णों के लिए 5 सूत्री मांगों को लेकर रैली का आयोजन किया गया था, जिसमें लाखों किसान व युवाओं ने भाग लिया था। उस वक्‍त 5 सूत्री मांगों के लिए सरकार को 6 महीने का अल्टीमेटम दिया गया था, मगर 6 महीने से अधिक होने के बावजूद सरकार ने जनाक्रोश को तवज्जो देना ठीक नहीं समझा। तब जाकर सर्व समाज के कहने पर आज राजनीतिक दल का गठन करना पड़ा।

उन्‍होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि आजादी के बाद बिहार भारत का सबसे विकासशील राज्य था। श्री कृष्ण बाबू के नेतृत्व में यहां चौमुखी विकास हो रहा था। उनके बाद समाजवाद के नाम पर राजनीतिक रोटी सेंकने वालों ने बिहार को बेरोजगार पैदा करने वाली फैक्ट्री के रूप में परिवर्तित कर दिया। मगर आज स्थितियां बदल गई है। हमारी सरकारें कौशल से परिपूर्ण युवाओं के लिए बिहार में कोई सुविधा मुहैया नहीं कराती है और टूट-फूट – जातिवाद की राजनीति से अपना रोटी सेंकती है। इस पर अब अंकुश लगाने का वक्‍त आ गया है।

उन्‍होंने पार्टी के उद्देश्‍यों पर चर्चा करते हुए कि हमारी पार्टी बिहार को विकसित राज्य की श्रेणी में लाने का काम करेगी। हम राज्‍य में छोटे – बड़े उद्योग धंधे स्थापित कर औद्योगिक क्रांति की ओर कदम बढ़ायेंगे। बिहार क्रांति की भूमि रही है। हमें पूर्ण विश्वास है कि औद्योगिक क्रांति के रास्ते पर चलकर हम स्वर्णिम बिहार का सपना साकार करेंगे। हम बिहार में वर्षो से बंद पड़े चीनी मिल, पेपर मिल, जूट मिल, रेशम तथा उद्योगों को पुनर्जीवित कर रोजगार का सृजन कर राज्य से भटक रहे लाखों युवाओं को रोजगार दिलाएंगे। वर्तमान सरकार की मेधावी युवाओं के खिलाफ साजिश नियोजन नीति को समाप्त कर पूर्णकालिक वेतनमान की नीति अपनाएंगे।

उन्‍होंने आगे कहा कि राष्ट्रीय जन जन पार्टी बिहार के तमाम युवा बेरोजगार किसान मजदूर की समर्पित पार्टी है जो जातिवाद और तुष्टीकरण से उठकर विकासवाद पर काम करेगी। हमारी पार्टी बिहार से पलायन को रोकने पर प्रमुखता से कार्य करेगी। हम स्पष्ट मानना है कि हम एकमात्र विचारधारा विकास की है। आज बिहार के हर तबके में आक्रोश है जातिवाद और भ्रष्टाचार की राजनीति से सभी ऊपर उठना चाहते हैं।

हमारी पार्टी का मुख्य उद्देश्य बिहार के किसान को बिचोलिया मुक्त करना है और हम पंजाब के तर्ज पर किसान से सीधे अनाज खरीद करें, वह भी 25% बढ़े हुए मूल्य पर। इसके अलावा जातिगत आरक्षण की जगह आर्थिक आधार पर आरक्षण, सवर्ण बाहुल्य पंचायत को सवर्णों के लिए आरक्षण, गरीब सवर्णों को आरक्षण में आयु सीमा में छूट, नेता – कलेक्टर से आम बच्चे के लिए अनिवार्य स्कूली शिक्षा, सरकारी स्वास्थ्य संसाधनों में भ्रष्टाचार पर लगाम, किसानों स्मार्टफोन फोन से जोड़ने,  छात्रों को टेक्नोलॉजी से जोड़ कर आत्मनिर्भर बनाने के लिए आठवीं पास बच्चों को मुफ्त लैपटॉप जैसे कई अहम कार्यों से हम बिहार की तस्‍वीर को बदलने का काम करेंगे।

उन्‍होंने कहा कि बिहार में विकास की बयार बहानी है तो हमें डॉक्टर श्री कृष्ण सिंह, डॉक्टर अनुग्रह नारायण सिंह, ललित नारायण मिश्र, लाल बहादुर शास्त्री तथा भोला पासवान के दिखाए रास्ते पर ही चलना होगा।  संवाददाता सम्‍मेलन में पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव शैलेन्द्र कुमार,महासचिव राजशेखर,मार्गदर्शक कृष्णनंदन प्रसाद उर्फ कृष्ण कुमार अकेला मौजूद रहे।