पिता ने पेट्रोल पंप पर नौकरी कर बेटे को पढ़ाया, IAS बन गोपालगंज के प्रदीप सिंह ने बढ़ाया मान

डेस्क : : संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की ओर से सिविल सेवा परीक्षा 2019 का फाइनल रिजल्ट जारी होते ही गोपालगंज में बधाई देनेवालों का तांता शुरू हो गया. प्रदीप सिंह (26वां रैंक) समेत गोपालगंज के तीन छात्रों ने यूपीएएसी की परीक्षा में सफलता पायी है.गोपालगंज के हथुआ प्रखंड के सेमराव पंचायत के खेमन टोला निवासी पेट्रोल पंप कर्मी मनोज सिंह के पुत्र प्रदीप सिंह को यूपीएससी की परीक्षा में 26वां स्थान मिला हैं.

उन्होंने लगातार दूसरी बार यूपीएससी की परीक्षा में सफलता पायी है. इससे पहले प्रदीप को 93वीं रैंक मिली थी. अच्छे रैंक पाने की ख्वाहिश में प्रदीप ने दूसरी बार यूपीएससी की परीक्षा दी थी. वहीं, बार काउंसिल ऑफ इंडिया के चेयरमैन मनन मिश्रा के भतीजे व अरुण कुमार मिश्र के पुत्र कुमार शिवाशीष को 108वीं रैक मिली है. पहली बार की परीक्षा में ही शिवाशीष ने सफलता पायी है. जबकि, भोरे प्रखंड के जागीरदारी बगहवां के ब्रजेंद्र पांडेय के पुत्र सुमित कुमार पांडेय को 607 वीं रैंक मिली है. सुमित के पिता किसान हैं.

जानिए, कैसा है प्रदीप का परिवार यूपीएससी टॉपर प्रदीप सिंह के परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है. पिता मनोज सिंह पेट्रोल पंप पर काम किया करते थे. मां हाउस वाइफ हैं. जबकि, प्रदीप के भाई निजी कंपनी में काम करते हैं. प्रदीप बताते हैं कि उनके दादा ने अंतिम इच्छा जतायी थी कि उसका पोता सिविल सर्विसेज में जाकर देश सेवा करें.

पिछले साल हासिल की 93वीं रैंक प्रदीप ने यूपीएससी परीक्षा 2018 में भी सफलता हासिल की थी. उस समय पहले प्रयास में प्रदीप ने ऑल इंडिया 93वीं रैंक हासिल कर महज 22 साल की उम्र में आइएएस बने. फिलहाल भारतीय राजस्व सेवा (आइआरएस) में बतौर असिस्टेंट कमिश्नर कार्यरत हैं. यूपीएससी 2019 की परीक्षा में प्रदीप ने भाग्य आजमाया और इस बार 26वां रैंक हासिल किया.

सांसद ने दी बधाई यूपीएससी की परीक्षा में गोपालगंज के तीन छात्रों की सफलता पर सांसद डॉ आलोक कुमार सुमन ने बधाई दी. सांसद ने तीनों छात्रों के सिविल सेवा में जाने पर बधाई देते हुए उज्जवल भविष्य की कामना की. उन्होंने छात्रों के माता-पिता और उनके परिवार को भी बधाई दी. यूपीएससी की परीक्षा में सफलता पाकर तीनों छात्रों ने गोपालगंज के साथ-साथ बिहार का नाम रोशन किया है.