‘महारानी’ वेब सीरीज सियासत: राबड़ी को अनपढ़ कहने पर भड़की रोहिणी, पढ़े-लिखे बुद्धिजीवी को बताया….

Maharani Webseries

न्यूज़ डेस्क : वेब सीरीज “महारानी” को लेकर बिहार में सियासी बवाल उठा है। इसमें एक ऐसे कैरेक्टर को दिखाया गया है जो अनपढ़ होकर भी शासन चला रही है। इसकी तुलना कुछ लोग राबड़ी देवी से कर रहे हैं। इसी बात को लेकर लालू प्रसाद की बेटी रोहिणी आचार्या ने ‘बुद्धिजीवी’ शब्द पर खूब वार किया है। उन्होंने अपनी मां और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के साथ अपनी फोटो भी ट्विटर पर डाली है। रोहिणी ने उन लोगों पर सवाल उठाया है, जो राबड़ी देवी के राज को अनपढ़ महिला कहकर उपहास उड़ाते हैं।

रोहिणी ट्विटर पर लिखते हैं: रविवार की दोपहर सोशल मीडिया पर रोहिणी ने लिखा- बालिका कांड भी एक धारावाहिक का हिस्सा नहीं था… बिहार के इतिहास में दर्ज हुआ एक ऐसा धब्बा है.. जिसे पढ़े-लिखे बुद्धिजीवी द्वारा रचा गया.. यह राक्षसी कारनामा है.. रोहिणी ने आगे लिखा- पढ़ लिख कर बुद्धिजीवी बनकर क्या कर लिया तुमने? मानवता को भूल कर राक्षसी प्रवृत्ति को अपना कर लूट लिया बालिका गृह कांड में… मासूम अबला की इज्जत तुमने !

1500 रुपया घोषणा को लेकर भी बवाल काटा: मुख्यमंत्री की ओर से कोरोना में अनाथ हुए बच्चों को हर माह 1500 रुपए दिए जाने की घोषणा पर भी रोहिणी ने तंज कसते हुए लिखा है- यही फुर्ती पहले दिखा जाते. ऑक्सीजन वेंटिलेटर और हॉस्पिटल..को समय रहते..चुस्त-दुरुस्त किया होता तो.. हजारों जान तड़प-तड़प कर यूं न गई होती.. हर बार की भांति अपनी नाकामी को छुपाने की यही तेरी चाल है.. क्या बुद्धिजीवियों का यही काम है?

जानिए, महारानी “वेब सीरीज” पीछे क्या है सियासी: बता दें कि महारानी “वेब सीरीज” पर सियासी तूफान शुरू होने के पीछे वजह उसकी कहानी है। जिसे लोग बिहार की सियासत से जोड़ कर देख रहे हैं। कहने को इसमें मुख्य किरदार रानी भारती का है। लेकिन, कहानी उस राबड़ी देवी की है। जिन्हें लालू प्रसाद के चारा घोटाले में बुरी तरफ फंसने के बाद आनन-फानन में बिहार की पहली महिला मुख्यमंत्री बना दिया गया था। रानी भारती का कैरेक्टर हुमा कुरैशी ने निभाया है। इस वेब सीरीज में एक मजेदार डॉयलॉग भी है – “हमसे 50 लीटर दूध दुहा लीजिए…. पांच सौ गोबर का गोयठा ठोंका लीजिए, लेकिन एक दिन में इतनी फाइल पर अंगूठा नहीं लगा सकती”

You cannot copy content of this page